" /> लॉकडाउन में मनपाकर्मियों का पेनडाउन

लॉकडाउन में मनपाकर्मियों का पेनडाउन

◼️ उपायुक्त ने कहा अपशब्द, बेहोश हुई महिला कर्मचारी
◼️ मनपा महिला कर्मचारियों ने आयुक्त से की जांच की मांग

महिला सशक्तिकरण पर लाखों रुपए पानी की तरह खर्च करने तथा महिलाओं के सम्मान के लिए बड़े-बड़े कार्यक्रम का आयोजन करनेवाले भिवंडी मनपा प्रशासन द्वारा महिलाओं का अपमान किए जाने का मामला उजागर हुआ है। मनपा उपायुक्त दीपक कुर्लेकर ने मनपाकर्मियों के वेतन की जानकारी लेकर गई एक महिला लिपिक कर्मचारी को अपशब्द कह दिया। यह सदमा बर्दाश्त न कर पाने के कारण महिला कर्मचारी बेहोश होकर उपायुक्त के कार्यालय में गिर पड़ी, जिसे तुरंत धामनकर नाका स्थित प्राइवेट अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल कराया गया है। अस्पताल में उसकी स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है। इस घटना की जानकारी मिलते ही महानगरपालिका में काम करनेवाली सभी महिला कर्मचारियों ने काम रोक दिया और आयुक्त कार्यालय पर जा जमा हुई और आयुक्त से इस मामले की कड़ी जांच की मांग की। इस दरमियान भिवंडी महानगरपालिका कामगार कृति संघर्ष समिति व विविध कामगार संगठनों की तरफ से दोपहर के बाद पेनडाउन आंदोलन शुरू कर दिया गया।
गौरतलब हो कि कोरोना वायरस के प्रभाव को रोकने के लिए भिवंडी महानगरपालिका प्रशासन कार्यालय में काम शुरू है। कुछ चुने हुए कर्मचारी व अधिकारी वर्ग कामकाज कर रहे हैं। कल सुबह महानगरपालिका के आस्थापना विभाग में क्लर्क के पद पर काम करनेवाली कल्पिता थापड़ नामक मनपा महिला कर्मचारी कामगारों के वेतन की जानकारी लेकर मनपा उपायुक्त दीपक कुर्लेकर के कार्यालय में गई थी, जहां पर उपायुक्त कुर्लेकर ने उसे अपशब्द कहा। अपशब्द को बर्दाश्त न कर पाने के कारण महिला क्लर्क का ब्लड प्रेशर बढ़ गया और वह उपायुक्त के कार्यालय में बेहोश होकर गिर पड़ी। वहां उपस्थित कर्मचारियों ने महिला को उठाकर तुरंत धामनकर नाका स्थित प्राइवेट अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया, जहां पर महिला की स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है। इस घटना की जानकारी मिलते ही महानगरपालिका में काम करनेवाली विविध विभाग की करीब 60 महिला कर्मचारी मिलकर कामकाज बंद कर दिया और मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर से भेंट कर इस पूरे मामले की जांच की मांग की। इस संदर्भ में आयुक्त से संपर्क करने पर उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ कोई भी व्यक्ति अपशब्द का प्रयोग नहीं कर सकता है। उक्त मामले की पूरी जांच की जाएगी।