" /> लॉक डाउन के कारण 40 हजार करोड़ के राजस्व का नुकसान : आर्थिक हालत पर प्रतिकूल प्रभाव

लॉक डाउन के कारण 40 हजार करोड़ के राजस्व का नुकसान : आर्थिक हालत पर प्रतिकूल प्रभाव

राज्य में लाक डाउन की वजह से उद्योग, व्यापार और आर्थिक व्यवहार पूरी तरह स ठप्प हो गया है। वस्तू और सेवा कर, मुद्रांक शुल्क, उत्पादन कर, परिवहन कर सहित भी प्रकार के कर बंद हो गए है, जिसके कारण राज्य सरकार को करीब 40 हजार करोड़ रुपए के राजस्व का नुकसान हुआ है।
मार्च 2019 में राज्य की तिजोरी में 42 हजार करोड़ रुपए का राजस्व जमा हुआ था, जबकि मार्च 2020 में केवल 17 हजार करोड़ रुपए का राजस्व सरकार को प्राप्त हुआ है। मतलब पिछले साल की तुलना में 60 प्रतिशत राजस्व में कमी हुई है।अप्रैल 2019 में राज्य सरकार को 21 हजार करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ था । इस वर्ष 70 प्रतिशत राजस्व कम होने का अनुमान है। सितंबर-अक्टूबर 2019 में जीएसटी राज्य को केवल 1800 करोड़ रुपए मिले थे। इस वर्ष 5 हजार करोड़ मिलने की उम्मीद है। पिछले वर्ष 2019-20 में राज्य सरकार को शराब विक्री से 25 हजार 323 करोड़ राजस्व मिला था। वर्ष 2018-2019 में 15 हजार 323 करोड़ रुपए राजस्व सरकार को प्राप्त हुआ था।