" /> लॉक डाउन के बीच रेलवे ने शुरू किया पुल की मरम्मत का कार्य

लॉक डाउन के बीच रेलवे ने शुरू किया पुल की मरम्मत का कार्य

मीठी नदी पर हो रहा है काम
13 गार्डर हो रहे हैं लॉन्च
250 मजदूर लगे काम पर
लॉक डाउन के बीच मुंबई के इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं ने दोबारा से काम की रफ्तार पकड़ना शुरू कर दिया है। इसी बीच पश्चिम रेलवे ने बांद्रा से माहिम के बीच पुल मरम्मत के काम को गति दे दी है। इस काम मे फिलहाल 250 कर्मचारियों को अलग अलग शिफ्ट में काम पर लगाया गया है। माना जा रहा गई कि पुल मरम्मत का यह कार्य 1 मई तक जारी रहेगा। हालांकि इस काम के दौरान रेलवे के लिए सबसे बड़ी चुनौती सोशल डिस्टनसिंग के नियमों का पालन भी करना हैं।

बता दें कि पश्चिम रेलवे के बांद्रा साउथ से बांद्रा से माहिम स्टेशन के बीच फ्लाईओवर की मरम्मत का काम इंजीनियरिंग विभाग ने शुरू कर दिया है। इस काम की शुरुआत बुधवार से हुई है और 1 मई तक यह काम जारी रहेगा। पश्चिम रेलवे के अधिकारी ने बताया कि मीठी नदी के ऊपर ब्रिज नंबर 20 पर 55 मीटर के 6 गार्डर और 5.8 मीटर के 7 क्रॉस गार्डर स्थापित किया जाना है। कुल 13 गार्डर को स्थापित करने की योजना पश्चिम रेलवे का इंजीनियरिंग विभाग विगत ढाई साल से बना रहा था लेकिन ब्लॉक न मिलने के कारण ये काम तय समान पर नही हो पा रहा था। पश्चिमी और मध्य रेलवे उपनगरीय स्टेशनों पर पैदल यात्री पुल लॉक डाउन के दौरान बंद हैं। इसमें पश्चिम रेलवे पर 20 पुल और मध्य रेलवे पर 15 पुल शामिल हैं। पश्चिम रेलवे ने ठेकेदारों को बंद काम शुरू करने के लिए मुंबई में गैर-प्रवासी श्रमिकों की मदद लेने का निर्देश दिया। इन श्रमिकों के मिलते ही, बांद्रा और माहिम के बीच मीठी नदी पर पुराने फ्लाईओवर की मरम्मत करने का निर्णय लिया गया है। वर्तमान में वाहनों और स्थानीय लोगों की आवाजाही बंद है ऐसे में इस दौरान पुलों के काम को गति देना संभव होगा। इसलिए इस पुल का काम 29 अप्रैल से शुरू कर दिया गया है जिसे 1 मई तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इस काम के दौरान 250 से अधिक श्रमिकों की मदद से फ्लाईओवर पर एक नया गर्डर स्थापित किया जाएगा। इसके अलावा पश्चिमी रेलवे प्रशासन के अनुसार, 2 बड़े और 8 छोटे क्रेन के अलावा 18 जेसीबी इस काम मे शामिल होंगे।