" /> लोकल ने बढ़ाई बेस्ट की कमाई

लोकल ने बढ़ाई बेस्ट की कमाई

बेस्ट पर हुआ लोकल का असर, सेवाएं बढ़ने का हुआ लाभ

सोमवार 15 जून से मुंबई के उपनगरीय रेल मार्ग पर 362 लोकल ट्रेन सेवाएं शुरू हो चुकी हैं। इनमें केवल सरकारी कर्मचारियों को यात्रा करने की अनुमति दी गई है। पहले दिन कोई खास भीड़ नहीं दिखाई दी, दूसरे दिन थोड़ा-सा सुधार हुआ लेकिन लोकल का असर बेस्ट पर होता हुआ दिखाई दे रहा है। मंगलवार को बेस्ट की बसों में करीब 6 लाख यात्रियों ने सफर किया। पिछले 80 दिनों में ये आंकड़ा अब तक का सबसे ज्यादा आंकड़ा है।

एक दिन में हुई 56 लाख की कमाई
जब यात्रियों की संख्या बढ़ी, तो कमाई में भी इजाफा हुआ। मंगलवार को बेस्ट ने 56.05 लाख रुपए की कमाई की। इस दौरान करीब 2,600 बेस्ट की बसें मुंबई की सड़कों पर दौड़ी। बेस्ट से मिले आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को कुल 5,91,076 यात्रियों ने सफर किया। स्पष्ट तौर पर लोकल ट्रेन चलाने का फायदा बेस्ट को मिल रहा है क्योंकि सोमवार को भी 5.87 लाख यात्रियों ने बेस्ट की बसों में सफर किया। बेस्ट प्रशासन को उम्मीद है कि जल्दी ये आंकड़ा 6 लाख के पार पहुंच जाएगा। लोकल नहीं चलने से पहले लॉकडाउन पीरियड में बेस्ट रोजाना करीब 2.5 लाख यात्रियों को सेवा देती थी।

रूट में होगा सुधार
लोकल ट्रेनें चलाने के बाद बेस्ट ने लंबी दूरी की सर्विस कम कर दी है। इससे पहले कल्याण, विरार या पनवेल से मुंबई तक यात्रियों को लाने में बेस्ट का सहयोग मिल था लेकिन लोकल ट्रेनें चलने के बाद लंबी दूरी की सर्विस पर असर पड़ा है। बेस्ट प्रशासन के अनुसार बेस्ट का काम पहले भी फीडर रूट पर सर्विस देना था। अब पूरा फोकस ट्रेनों से आनेवाले यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने का है। लेकिन जिन लंबे रूट पर ज्यादा डिमांड अब भी है, वहां सेवाओं में कटौती न करने का विचार किया जाएगा।