लो बदला! रोकी गई ट्रेनें, लोगों में आक्रोश

नालासोपारा में व्यापारियों ने विरोध में सभी दुकानें बंद रखीं। इसके साथ ही मुस्लिम समाज के लोगों ने पूरे इलाके में घूम-घूमकर तिरंगा लहराया और ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ के नारे लगाए। नालासोपारा रेलवे स्टेशन पर ट्रेन की आवाजाही रोक दी गई। प्रदर्शनकारी बदला लेने की मांग करते नजर आए।
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद देशभर में गुस्से का माहौल है। लोग पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सड़कों पर उतरे और प्रदर्शन भी किया। मुंबई से सटे नालासोपारा और विरार के बीच ट्रैक पर ट्रेनों के सामने लोग आ गए, जिसके बाद दोनों तरफ की आने-जानेवाली ट्रेनें बंद कर दी गर्इं। करीब ४ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद धीरे-धीरे ट्रेनों को शुरू किया गया।
जीआरपी, आरपीएफ और लोकल पुलिस लोगों को ट्रैक से हटाने की कोशिश करती रही लेकिन लोग हटने को तैयार नहीं थे। मजबूरन सिटी पुलिस और आरपीएफ ने लाठीचार्ज किया, जिसके बाद ट्रेनों की आवाजाही शुरू हुई। ट्रैक पर खड़े लोग पाकिस्तान के खिलाफ  जमकर नारेबाजी करते हुए सरकार से जल्द से जल्द बदला लेने की मांग करते रहे।
ऑफिस के लिए निकले लोग अपने घरों के लिए वापस लौट गए। वसई में कई जगह बाइक रैली निकाली गई। वसई-विरार नालासोपारा में कई जगह कैंडल मार्च निकाला गया।
 मीरा-भाइंदर में फूटा गुस्सा
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए हमले के विरोध में मीरा रोड शांतिपूर्वक बंद रहा, जबकि भाइंदर में स्थानीय लोगों ने लोकल ट्रेन रोक कर विरोध प्रदर्शन किया। शनिवार को मीरा-भाइंदर शहर के बाजार लगभग बंद रहे। सुबह बाजार खुलने के कुछ ही देर बाद अलग-अलग परिसर में अलग-अलग संस्थाओं के कार्यकर्ताओं ने शांति मार्च निकाला कर बाजार को बंद करने की अपील की, जिसके बाद लोगों ने घटना के विरोध में अपनी-अपनी दुकान बंद कर दी, शहर के कई हिस्से में लोगों ने मोर्चा निकालने के दौरान ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ के नारे लगाए, जबकि शिवसैनिकों ने भाइंदर स्टेशन पर लोकल ट्रेन रोक कर विरोध जताया।