लौट के यात्री ‘बेस्ट’ को आए!, पहले दिन बढ़े तीन लाख

किराया कम होने के बाद पहले दिन बेस्ट बसों में सवारी के लिए मुंबईकरों में होड़ मचती दिखाई दी। पॉकेट से खर्चा बचाने के लिए लोग ऐप आधारित टैक्सी, शेयरिंग टैक्सी और ऑटोरिक्शा को छोड़कर बेस्ट बसों की तरफ लौटते दिखाई दिए। ऐसे में बेस्ट प्रशासन द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक पहले दिन बसों में तीन लाख यात्रियों की संख्या बढ़ी।
बता दें कि मंगलवार से बेस्ट प्रशासन ने बसों के किराए में ६० से ६५ प्रतिशत तक कटौती कर दी। इससे यात्रियों को बेस्ट बसों की तरफ रुझान बढ़ते देखा गया। रोजाना बेस्ट बसों से लगभग २० से २२ लाख यात्री यात्रा करते हैं। ऐसे में मंगलवार ४ बजे से बुधवार सुबह ४ बजे के २४ घंटों के समय में बसों में तीन लाख यात्रियों की संख्या ब़ढ़ गई। यात्रियों की संख्या बढ़ जाने से बेस्ट प्रशासन का राजस्व भी अधिक प्रभावित नहीं हुआ। बेस्ट समिति के अध्यक्ष अनिल पाटनकर ने बताया कि किराया कम करने के बाद प्रशासन को लग रहा था कि इससे ५० प्रतिशत से भी अधिक राजस्व प्रभावित हो जाएगा लेकिन बसों में यात्रियों की संख्या अधिक बढ़ने से लगभग ३५ प्रतिशत राजस्व ही प्रभावित हुआ। किराया कम होने के बाद पहले दिन में ही १५ से २० प्रतिशत यात्रियों की संख्या बढ़ गई जबकि सड़कों पर ट्रैफिक जाम की समस्या भी कम होती हुई देखी गई।