" /> वधावन भाइयों को 8 मई तक सीबीआई हिरासत

वधावन भाइयों को 8 मई तक सीबीआई हिरासत

वधावन भाइयों को लॉक डाउन में परिवार के साथ महाबलेश्वर की सैर पर जाना खासा महंगा पड़ गया है। शुक्रवार को सीबीआई की एक विशेष अदालत ने कपिल वधावन और धीरज वधावन की सीबीआई हिरासत 8 मई तक बढ़ाने का आदेश दिया है। यह दोनों आरोपी डीएचएफएल कंपनी के प्रमोटर है एवं यस बैंक घोटाले में इन दोनों का नाम सामने आया है।

सीबीआई ने इन आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसके साथ इन्हें 26 अप्रैल को गिरफ्तार किया था। उसी समय से यह दोनों सीबीआई के हिरासत में थे। सीबीआई का मानना है कि यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर ने यस बैंक के माध्यम से 3700 करोड़ के डिबेंचर डीएचएफएल में निवेश किए थे जिसे रिडीम नहीं किया गया था। इसके बदले वधावन भाइयों ने को 600 करोड़ रुपये लोन अर्बन वेंचर नामक कंपनी को दिए थे। यह कंपनी राणा कपूर की बेटियों के नाम से रजिस्टर है। सीबीआई ने अदालत से हिरासत बढ़ाने की मांग की थी। मामले की गंभीरता को समझते हुए कोर्ट ने हिरासत बढ़ा दी। सीबीआई का कहना है कि वे डीएचएफएल और यस बैंक के मामले में अन्य कर्मचारियों के बारे में जानना चाहती है, जो इस घोटाले में शामिल है। सीबीआई सूत्रों के अनुसार, लॉकडाउन खुलने के बाद दोनों कंपनियों के कर्मचारियों से पूछताछ हो सकती है, जिससे अन्य तथ्य निकलकर बाहर आए।