" /> वसई-विरार मनपा क्वारंटाइन में रहनेवाले को खाना देने के नाम पर प्रतिदिन 200 रुपए की लूट

वसई-विरार मनपा क्वारंटाइन में रहनेवाले को खाना देने के नाम पर प्रतिदिन 200 रुपए की लूट

कोरोना संक्रमण से जहां पूरा विश्व परेशान है। हिंदुस्थान में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लगभग तीन माह का लॉकडाउन किया गया और नागरिक अपना जीविकोपार्जन करने में परेशान हैं। वहीं क्वारंटाइन के नाम पर वसई-विरार शहर महानगर पालिका आम लोगों से प्रतिदिन प्रति व्यक्ति खाने के नाम पर 200 रुपए लेकर आम नागरिकों को लूट रही है। गौरतलब हो कि वसई-विरार महानगर पालिका के क्षेत्र में ज्यादा करके गरीब और मजदूर तबके के लोग रहते हैं जो हर रोज दिहाड़ी मजदूरी करके अपने परिवार का पालन-पोषण करते हैं। लेकिन क्वारंटाइन में रहकर कोरोना नामक गंभीर संक्रमण से लड़नेवाले गरीब, बेसहारा लोगों से मनपा खाने के नाम पर 200 रुपए ले रही है, जबकि सुविधा के नाम पर सब कुछ शून्य है। वहीं बृहदमुंबई महानगरपालिका पीड़ित लोगों को फ्री में खाना और इलाज मुहैया करवा रही है। वसई-विरार मनपा क्षेत्र में दिनों-दिन कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है और कई लोग काल के गाल में भी समा रहे हैं। लगभग 20 लाख से ज्यादा आबादीवाला शहर होने के बाद भी यहां पर कोरोना संक्रमण बीमारी का इलाज करने के लिए मनपा के पास कोई भी एमबीबीएस, एमडी डॉक्टर उपलब्ध नहीं है, जबकि वसई-विरार शहर महानगर पालिका ‘सी’ ग्रेड में आता है लेकिन विकास और सुविधा के नाम पर सब शून्य है।