" /> वसई-विरार शहर में फिर मिले 10 नए पॉजिटिव केस : 24 दिन का कोरोना संक्रमित बच्चा हुआ डिस्चार्ज

वसई-विरार शहर में फिर मिले 10 नए पॉजिटिव केस : 24 दिन का कोरोना संक्रमित बच्चा हुआ डिस्चार्ज

मनपा ने किए 94 प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित
वसई-विरार शहर महानगरपालिका में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। बुधवार को 10 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए, इसके साथ ही मनपा क्षेत्र में कोरोना के कुल 168 मामले हो गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार 6 मई को वसई-विरार शहर महानगरपालिका अंतर्गत नालासोपारा (पूर्व) से 9 और पश्चिमी से 1 कोरोना संक्रमित मरीज पाए गए हैं, जिसमें 10 साल की लड़की भी शामिल है। इसके अलावा 24 दिन का कोरोना संक्रमित मासूम बच्चा अस्पताल से डिस्चार्ज हुआ है। डिस्चार्ज का कुल आकड़ा 91 पर पहुंच चुका है।

ज्ञात हो कि लॉकडाउन-3 में ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन में बांटे गए जिलों के अनुसार पालघर जिले को रेड जोन में डाला गया है, जहां अत्यावश्यक सेवाओं के अलावा किसी भी प्रकार की छूट नहीं दी गई लेकिन यह प्रतिबंध केवल कन्टेनमेंट जोन्स में ही लागू किया गया है। मंगलवार को नॉन-कन्टेनमेंट जोन में शराब की दुकानें खुलने के बाद लंबी कतारें सुबह से दोपहर तक देखने को मिलीं। पहले तो सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ाई गईं लेकिन पुलिस के कड़े रवैये के बाद दुकानदारों ने दुकान के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग राउंड (गोल घेरा) बनाया। तपती धूप में लोग शराब खरीदने के लिए लंबी कतारों में खड़े नजर आए। वसई-विरार में रोजाना शाम 5 से 8 बजे तक अलग-अलग क्षेत्रों में भीड़ इकट्ठा होती है लेकिन इस पर न तो शासन ध्यान दे रहा है और न ही यहां का पुलिस। प्रशासन इस पर लगाम लगाने में नाकाम साबित हो रहा है। वसई-विरार शहर में अब तक 94 प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित हो चुके हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के आधार पर प्रतिबंधित क्षेत्र की संख्या भी बढ़ रही है। ज्ञात हो कि अधिकतर कोरोना पॉजिटिव के मामले मुंबई में काम कर रहे मनपा कर्मियों, अस्पताल कर्मचारियों और होटल में पाए जा रहे हैं। हालांकि, वसई-विरार शहर महानगरपालिका क्षेत्र में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 168 पहुंच चुकी है, जिनमें से 8 की मौत, जबकि 90 लोग डिस्चार्ज हुए हैं।