" /> वापस आऊं क्या?

वापस आऊं क्या?

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा कि वो अभी भी टेस्ट क्रिकेट में रन बना सकते हैं, बस उनको तीन महीने की ट्रेनिंग और कुछ रणजी मैच खेलने की जरूरत होगी। गांगुली ने अपना आखिरी टेस्ट मैच १२ साल पहले २००८ में खेला था, वहीं आखिरी फर्स्ट क्लास मैच उन्होंने २०११ में खेला था। गांगुली ने कहा कि वो टेस्ट क्रिकेट में रन बनाने के लिए अभी भी फिट हैं बस उन्हें ट्रेनिंग के लिए कुछ समय चाहिए। एक इंटरव्यू में गांगुली ने यह बात कही। उन्होंने कहा,‘अगर मुझे दो और वनडे इंटरनेशनल सीरीज खेलने को मिलती, तो मैं और रन बना सकता था। अगर मैं नागपुर टेस्ट में रिटायर नहीं होता तो मैं आगे की दो टेस्ट सीरीज में रन बना सकता था। इतना ही नहीं अभी भी मुझे छह महीने ट्रेनिंग के दीजिए और तीन रणजी मैच खेलने दीजिए, मैं टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए रन बना लूंगा। मुझे छह महीने भी नहीं चाहिए, मुझे बस तीन महीने दीजिए। मैं रन बना लूंगा।’ उन्होंने कहा, ‘आप मुझे खेलने का मौका भले ना दें, लेकिन आप मेरे अंदर से वो विश्वास कैसे तोड़ेंगे कि मैं खेल सकता हूं?’ २००७-०८ सीजन में गांगुली को अचानक से वनडे इंटरनैशनल टीम से ड्रॉप कर दिया गया था। उन्होंने कहा, ‘यह अविश्वसनीय था, कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की लिस्ट में शामिल होने के बावजूद मुझे वनडे इंटरनेशनल टीम से ड्रॉप कर दिया गया था। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितना अच्छा खेलते हैं, लेकिन अगर आप से मंच ही छीन लिया जाए, तो आप साबित कैसे करेंगे और किसको साबित करेंगे? ऐसा ही कुछ मेरे साथ हुआ था।’