" /> वाराणसी प्रशासन ने दिखाई सख्ती, ऑनलाइन फूड होम डिलीवरी पर लगाई रोक

वाराणसी प्रशासन ने दिखाई सख्ती, ऑनलाइन फूड होम डिलीवरी पर लगाई रोक

दिल्ली में संक्रमित पिज्जा डिलिवरी ब्वॉय के मामले को गंभीरता से लेते हुए वाराणसी प्रशासन ने जनपद में ऑनलाइन फूड होम डिलीवरी पूरी तरह बंद करवा दिया है। कुछ दिनों के लिए स्विग्गी को होम डिलीवरी हेतु अनुमति दी गई थी, जो एक-दो दिन ही चला था। इसे बाद में बंद करा दिया गया था।

इस संदर्भ में जिलाधिकारी वाराणसी ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि किसी भी रेस्टोरेन्ट को खोल कर होम डिलीवरी या बैठाकर खिलाने की कत्तई अनुमति नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि किसी के द्वारा चोरी-छिपे होम डिलीवरी आदि का कार्य किया जाना पाया जाता है तो ऐसे लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। लॉकडाउन में यह पूरी तरह प्रतिबंधित है और आगे भी रहेगा।

जिलाधिकारी ने बताया कि गंगापुर, लोहता, मदनपुरा एवं बजरडीहा हॉटस्पॉट क्षेत्रों सहित 180 सैंपल भेजे गए हैं। रिपोर्ट आने पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों का पं0दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में ऐसे लोगों का इलाज कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि हॉटस्पॉट मदनपुरा के बाहरी एरिया को बफर जोन बनाया जा रहा है। इस को ध्यान में रखते हुए गोदौलिया दूध सट्टी को शनिवार से मैदागिन चौराहा पर शिफ्ट कराया जाएगा। आज गोदौलिया दूध सट्टी के लोगों को इसकी सूचना भी दे दी गई है, कि शनिवार से यह दूध सट्टी मैदागिन चौराहा पर शिफ्ट कर दिया गया है। इसके अलावा चितरंजन पार्क स्थित सब्जी मंडी को भी शिफ्ट करने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हॉटस्पॉट से सटे बाहर के क्षेत्र को बफर जोन बनाया जाता है। ताकि हॉटस्पॉट क्षेत्र के रहने वाले लोग यदि आसपास के क्षेत्र में घूमे हो, तो उस क्षेत्र को बफर जोन के रूप में चिन्हित कर हॉटस्पॉट क्षेत्र की तरह ही उसे भी सील कर व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराई जाए। जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण को हर हालत में रोका जा सके।