" /> विकास के एनकाउंटर के बाद विपक्ष ने सरकार को घेरा

विकास के एनकाउंटर के बाद विपक्ष ने सरकार को घेरा

एनकाउंटर में मारे गए दुर्दांत विकास दुबे की मौत के बाद विपक्षी दल सीधे तो विकास के साथ नहीं खड़े हुए लेकिन तरह-तरह की जांच के नाम पर यूपी सरकार को घेर रहे हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी के राज में उत्तर प्रदेश ‘अपराध प्रदेश’ बन गया है। प्रियंका का यह बयान कानपुर कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने के बाद आया है। कांग्रेस महासचिव ने यह भी मांग की है कि कानपुर कांड की जांच सुप्रीम कोर्ट के जज से कराई जाए। प्रियंका गांधी ने कहा, ‘बीजेपी की सरकार ने उत्तर प्रदेश को ‘अपराध प्रदेश’ में बदल दिया है। विकास दुबे जैसे अपराधी सत्ता में बैठे लोगों की देख-रेख में आगे बढ़ रहे हैं और उन्हें बचाया भी जा रहा है। प्रियंका गांधी ने एक अपने टि्वटर हैंडल पर वीडियो पोस्ट किया। इसमें उन्होंने कहा कि सारा देश देख रहा है कि बीजेपी सरकार ने उत्तर प्रदेश को अपराध प्रदेश में बदल डाला है। उनके अपने आंकड़े बताते हैं कि बच्चों के खिलाफ अपराध, दलितों के खिलाफ अपराध, महिलाओं के खिलाफ अपराध और अवैध असहलों व हत्याओं के मामले में उत्तर प्रदेश नंबर एक पर है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति बिल्कुल बिगड़ चुकी है। विकास दुबे जैसे अपराधी सत्ता में बैठे लोगों के संरक्षण में फल-फूल रहे हैं। उनके बड़े-बड़े व्यवसाय है। इस तरह के लोग खुलेआम अपराध कर रहे हैं और कोई रोकनेवाला नहीं है। सभी को पता है कि इन्हें सत्ता के लोगों से ही संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने पूछा कि विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद हम उन आठ शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को किस तरह से भरोसा दिला सकते हैं कि उन्हें न्याय मिल रहा है और उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी।एनकाउंटर पर उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पुलिस और यूपी सरकार की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाया है। अखिलेश ने ट्वीट कर कहा कि दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बच गई है। बसपा प्रमुख मायावती पूरे प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड न्यायमूर्ति की अध्यक्षता में बनी कमेटी से जांच कराने की मांग की है। राष्ट्रीय लोकदल के प्रवक्ता अनिल दुबे ने कहा कि यूपी में हर व्यक्ति दहशत में है। सरकार में बैठे लोग अपराधियों के संरक्षक हैं। इस प्रकरण की जांच उच्चतम न्यायालय के जज की अध्यक्षता में वैज्ञानिक तथ्यों के आधार पर की जाए। यूपी पुलिस इतने बड़े अपराधी को समर्पण के बाद नहीं संभाल पाई। भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि उन्हें अंदेशा था कि कुछ ऐसा ही होगा। उन्होंने इसकी सीबीआई से जांच कराने की मांग की है।