" /> विलेन से हीरो

विलेन से हीरो

शायद ही कोई नाम याद रख पाया होगा। तब तो और नहीं जब खराब प्रदर्शन कर टीम का भट्ठा बिठाया हो। है न। ऐसे ही एक खिलाड़ी थे राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाज राहुल तेवतिया। जिन्होंने किंग्स इलेवन के तेज गेंदबाज शेल्डन कॉट्रेल के एक ओवर में ५ छक्के जड़कर न केवल अपनी टीम को ४ विकेट से ऐतिहासिक जीत दिलाई बल्कि देखते ही देखते विलन से हीरो बन गए। अगर राहुल तेवतिया ये पांच छक्के ना लगाते तो वह शायद इस लीग में खराब बल्लेबाजी के लिए हमेशा याद किए जाते, पर तेवतिया ने ऐसा नहीं होने दिया और वह राजस्थान के लिए विलेन से हीरो बनने का कारनामा कर गए। राहुल तेवतिया ने राजस्थान रॉयल्स को २२४ रनों के विशाल लक्ष्य को हासिल करने में अंतिम क्षणों में विशेष योगदान दिया। दरअसल किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से मिले २२४ रनों के टारगेट को पाने के लिए एक समय राजस्थान मैच से बाहर हो गई थी और टीम को अंतिम तीन ओवर में जीतने के लिए ५१ रनों की दरकार थी। तेवतिया उस समय २३ गेंदों पर २१ रन बनाकर जूझ रहे थे। ऐसा लग रहा था की राजस्थान रॉयल्स की हार का कारण भी तेवतिया ही बनेंगे। क्योंकि १९ गेंदों में राहुल ने एक भी बाउंड्री नहीं मारी थी। इसके बाद पंजाब की ओर से १७वां ओवर करने आए तेज गेंदबाज शेल्डन कॉट्रेल और फिर मैच की कहानी पूरी तरह से बदल गई। राहुल तेवतिया ने एक ओवर में ५ छक्के लगाने के मामले में क्रिस गेल की बराबरी की, गेल ने साल २०१३ में राहुल शर्मा के खिलाफ आईपीएल में ५ छक्के मार थे।