" /> व्यापारियों – कर्मचारियों को ले जाने की दो अनुमति : टैक्सीवालों ने की मांग

व्यापारियों – कर्मचारियों को ले जाने की दो अनुमति : टैक्सीवालों ने की मांग

सोमवार को समिति सौंपेगी रिपोर्ट

राज्य सरकार की ट्रांसपोर्ट एक्शन फोर्स समिति और रिक्शा-टैक्सी यूनियन की बैठक में यूनियनों ने किराया बढ़ाने की मांग की। बैठक में यूनियनों ने जरूरी सेवाओं के साथ आम लोगों को भी टैक्सी-रिक्शा में यात्रा की अनुमति देने की मांग की।
गौरतलब है कि लॉकडाउन में हर किसी को आर्थिक परेशानियों सेे गुजरना पड़ रहा है। सरकार ने कुछ व्यवसायों को रियायतें भी दी हैं। ऐसे में ट्रांसपोर्ट एक्शन फोर्स की देख-रेख में नियुक्त रिक्शा-टैक्सी उप-समिति की बैठक में यूनियन ने अपनी मांग दोहराई है। मुंबई टैक्सी यूनियन के अध्यक्ष एंटोनी लॉरेंस क्वाड्रोस ने कहा कि अभी हमारे लोग सिर्फ एक व्यक्ति को बैठाकर यात्रा कराते हैं। हमारी मांग है कि हमें दो यात्रियों के साथ यात्रा करने की अनुमति दी जाए। उन्होंने कहा कि अभी इंटरनेशनल विमान सेवा बंद हैं, लंबी दूरी की ट्रेनों की सेवाएं बहुत कम चल रहीं हैं। ऐसे में अभी हमें सिर्फ पांच प्रतिशत ही यात्री मिल रहे हैं। हमें छोटे व्यापारियों, प्राइवेट कर्मचारियों को भी ले जाने की अनुमति दी जानी चाहिए। इसके साथ ही हमारे दैनिक खर्चों को पूरा करने के लिए न्यूनतम किराया बढ़ाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में टैक्सी का न्यूनतम किराया 22 रुपए है। इसे तीन रुपए बढ़ाकर 25 रुपए किया जाना चाहिए। बैठक में सभी पक्षों की बात सुनने के बाद कमेटी सोमवार को सरकार के सामने अपनी रिपोर्ट देगी, इसके बाद सरकार निर्णय लेगी।