श्रीरामजन्मभूमि सेवा समिति के अध्यक्ष महंत रामचरित दास का साकेत वास

श्री रामजन्मभूमि सेवा समिति के अध्यक्ष व साकेत महाविद्यालय के उपाध्यक्ष महंत रामचरित दास का उनके स्वर्गद्वार स्थित आश्रम में साकेत वास हो गया। 98 वर्षीय दास  को फेफड़े में संक्रमण की शिकायत के बाद सघन चिकित्सा के बावजूद उन्हें बचाया न जा सका।
उनके उत्तराधिकारी महंत संजय कुमार शुक्ल ने बताया कि महंत रामचरित दास सन् 1949 से श्री राम जन्मभूमि आंदोलन से जुड़े हुए थे।  सन् 1984 से 1992 तक श्री रामजन्म भूमि के पक्षकार गोपाल सिंह विशारद का मुकदमा लड़ते रहे।  सन् 1984 से अब तक श्री राम जन्मभूमि सेवा समिति के अध्यक्ष थे,  वे साकेत महाविद्यालय थे उपाध्यक्ष थे।

महंत संजय कुमार शुक्ला ने बताया कि श्री दास का अंतिम संस्कार बुधवार को प्रातः 10:00 बजे किया जाएगा इससे पहले रामसेतु श्रद्धांजलि देने के लिए सांसद लल्लू सिंह, विधायक वेद प्रकाश गुप्ता, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय , सपा नेता मस्तराम यादव , श्री रामवल्लभा कुंज के अधिकारी व अयोध्या तीर्थ विवेचिनी सभा के अध्यक्ष स्वामी राजकुमार दास , नाका हनुमानगढ़ी के महंत रामदास सहित बड़ी संख्या में संतों महंतों ने श्रद्धांजलि दी है। अखाड़ा परिषद के पूर्व अध्यक्ष महंत ज्ञानदास में गंगासागर से इस घटना पर दुख जताया है उन्होंने कहा कि श्री दास का निधन एक युग का निधन है।