संन्यास की दहलीज पर खिलाड़ी

विश्वकप २०१९ के शुरू होने में अब बस कुछ दिन बाकी हैं और सभी टीमें इस खिताब को जीतने के लिए बेताब हैं और इस वल्‍र्ड कप में हिस्‍सा लेने वाले टॉप ८ उम्रदराज क्रिकेटर्स ऐसे संन्यास की दहलीज पर खड़े हैं। इनमें साउथ अप्रâीका के इमरान ताहिर हैं। ४० साल ५७ दिन की उम्र वाले इस दिग्‍गज स्पिनर ने अपने देश के लिए ९८ वनडे मैच खेलते हुए २४.२१ के औसत से १६२ विकेट लिए हैं। अप्रâीका का ये स्‍टार स्पिनर वल्‍र्ड कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह देगा। ताहिर के बाद टीम के उम्रदराज खिलाड़ी हाशिम अमला (३६ साल और १८ दिन) हैं। इधर अपनी विस्‍फोटक पारियों के दम पर क्रिस गेल ने दुनियाभर में क्रिकेट प्रशंसक बनाए हैं और वह भी इस महाकुंभ के बाद क्रिकेट से संन्‍यास ले लेंगे। ३९ साल और २४४ दिन के गेल ने अब तक वेस्‍टइंडीज के लिए २८९ वनडे मैचों में ३८.१६ के औसत से १०,१५१ रन बनाए हैं, जिसमें २५ शतक और ५१ अर्धशतक शामिल हैं। पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड ने इस बार अपनी टीम में मोहम्‍मद हफीज और शोएब मलिक को भी जगह दी है। हफीज ३८ साल और २१८ दिन के साथ टीम के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं। इसके अलावा शोएब मलिक टीम के दूसरे अधिक उम्र वाले खिलाड़ी हैं और उन्‍हें २८४ वनडे मैचों (रन-७५२६, शतक-९, विकेट-१५७, औसत-३९.१४) का अनुभव है। वे इस वक्‍त ३७ साल और १११ दिन के हैं। टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्‍लेबाज महेंद्र सिंह धोनी का नाम भी इस लिस्‍ट में शामिल है। वे इस वक्‍त ३७ साल और ३२० दिन के हैं। अगर उनके अनुभव की बात करें तो वे ३४१ वनडे खेल चुके हैं। धोनी के बाद टीम के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी केदार जाधव (३४ साल और ३६ दिन) हैं। न्‍यूजीलैंड के लिए वनडे क्रिकेट में सबसे अधिक २० शतक लगानेवाले रॉस टेलर की उम्र ३५ साल और ७६ दिन है और वे टीम के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं। कोलिन डी ग्रैंडहोम (३२ साल और २८३ दिन) और मार्टिन गप्टिल (३२ साल और २१३ दिन) अन्य खिलाड़ी हैं। पांच बार वल्‍र्ड कप का खिताब जीतनेवाली ऑस्‍ट्रेलियाई टीम में शॉन मार्श सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं। ३५ साल और ३१८ दिन की उम्रवाले इस खिलाड़ी के पास ७१ वनडे (रन-२,७४७, शतक-७) का अनुभव है। इसके अलावा कप्‍तान एरॉन फिंच और उस्‍मान ख्‍वाजा ३२ से ज्‍यादा की उम्र के हैं। जीवन मेंडिस श्रीलंकाई टीम के सबसे उम्रदराज (३६ साल और १२८ दिन) खिलाड़ी हैं जबकि ३५ साल और २६८ दिन के साथ लसिथ मलिंगा दूसरे नंबर पर हैं। बांग्‍लादेश की टीम इस बार मशरफे मुर्तजा की कप्‍तानी में मैदान में है और वही टीम के सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं। वहीं महमदुल्‍लाह (३३ प्लस) टीम के दूसरे उम्रदराज खिलाड़ी हैं यानी ये विश्वकप इनका आखिरी विश्वकप है।