" /> संपादक के नाम पत्र

संपादक के नाम पत्र

टीवी में प्रसारित धारावाहिकों में बंद की जाए अश्लीलता
मैं ‘दोपहर का सामना’ के माध्यम से सरकार का ध्यान टीवी पर प्रसारित होनेवाले धारावाहिकों में जारी अश्लीलता की तरफ दिलना चाहता हूं। बिग बॉस जो कलर टीवी में प्रसारित होता है, उसमें कुंवारी लड़कियों को बेड पाटर्नर के रूप में लड़के दिए हैं ताकि पूरी तरह से भारतीय संस्कृति के विपरीत बिना शादी किए मर्दों के साथ रहे। माडर्न बनने की यह प्रथा हिंदू लड़कियों में देखा-देखी पूरे हिंदुस्थान में फैलानेवाले ये नापाक इरादे रखकर हिंदुस्थान की संस्कृति को विकृत कर देना चाहते हैं, जो लड़कियों को शादी के पहले ही शायद बच्चे पैदा करने के लिए उकसा रहे हैं। इससे पूरा हिंदुस्थान छिन्न-भिन्न हो जाएगा। ऐसे प्रोग्रामों पर सरकार को तुरंत रोक लगाना चाहिए।
-सुशील कुमार सरावगी जिंदल, राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी राष्ट्रीय विचार मंच, नई दिल्ली

फारुख अब्दुल्ला पर लगाएं राष्ट्रद्रोह
मैं ‘दोपहर का सामना’ के माध्यम से सरकार से मांग करता हूं कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री सांसद फारुख अब्दुुल्ला ने अपने बयान में कहा कि चीन के सहयोग से धारा ३७० कश्मीर में वापस लाएंगे। इसके पहले भी फारुख अब्दुल्ला पहले भी हिंदुस्थान विरोधी बयान देते रहे हैं। फारुख अब्दुल्ला अपना इतिहास भूल गए हैं कि इसके पिता शेख अब्दुल्ला को भी पूर्व मुख्यमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू सरकार ने राष्ट्र विरोधी गतविधियों के कारण जेल में डाल दिया था जबकि वे नेहरू जी के दोस्त थे। फारुख अब्दुल्ला संसद सदस्य होने की मर्यादा को भूल रहे हैं। जिस चीन की मदद से धारा ३७० बहाल करवाना चाहते हैं। उस चीन के सामने सीमा पर हमारी सेनाएं आमने-सामने हैं। गलवान घाटी में हमारी सेना के बीस वीर जवान चीन द्वारा शहीद कर दिए गए, जिनकी चिताओं की राख अभी ठंडी नहीं हुई। शहीदों के परिवार के आंसू अभी सूखे भी नहीं थे कि देश की जनता का गुस्सा चीन व पाकिस्तान के प्रति सातवें आसमान पर है परंतु यह गद्दार फारुख अब्दुल्ला चीन को अपना हिमायती बता रहा है। इसका पाकिस्तान प्रेम तो जग जाहिर है। केंद्र सरकार का इससे क्या लगाव है? केंद्र सरकार को आदेश देना चाहिए कि फारुख अब्दुल्ला पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज करके तुरंत गिरफ्तार किया जाए।
-शिवसेना इकाई, अलीगढ़