" /> सबका नाम बताऊंगा!

सबका नाम बताऊंगा!

दुनियाभर में रंगभेद के खिलाफ अभियान छिड़ गया है। वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डेरेन सैमी, क्रिस गेल और ड्वेन ब्रावो ने कहा है कि खेल जगत भी रंगभेद से अछूता नहीं रहा है। सैमी ने आरोप लगाया था कि आईपीएल में उन्हें कालू कहकर पुकारा जाता था। इस पर गेल ने उनका समर्थन करते हुए कहा कि हक की लड़ाई कभी भी शुरू की जा सकती है। गेल ने ट्वीट किया, ‘‘हक के लिए लड़ाई कभी भी शुरू की जा सकती है। इसमें देरी जैसी कोई बात नहीं है। सैमी, आपने बीते कुछ साल में काफी अनुभव हासिल किया होगा। जैसा मैंने पहले भी कहा है कि यह खेल में पहले भी होता रहा है।’ ड्वेन ब्रावो ने इंस्टाग्राम चैट पर कहा, ‘‘हम यह अच्छे से जानते हैं कि ब्लैक लोगों ने इतिहास में काफी कुछ सहन किया है। हम बदला लेने के लिए नहीं कह रहे हैं। हम सिर्फ बराबरी और सम्मान चाहते हैं। हम भी सभी को सम्मान देते हैं। क्यों हम यह सब सहन करते जाएं? अब बहुत हो गया है। हम युद्ध नहीं, बल्कि बराबर अधिकार चाहते हैं।’’ सैमी ने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए उन खिलाड़ियों के नामों का खुलासा करने का कहा, जिसने उनके खिलाफ नस्लीrय टिप्पणी की थी। सैमी ने कहा था, ‘‘मैं अपने साथी खिलाड़ियों तक यह बात पहुंचाना चाहता हूं कि क्या उन्होंने इस शब्द का इस्तेमाल गलत मतलब से किया था। अगर ऐसा था तो मैं बहुत निराश हूं। आप लोगों को मुझसे माफी मांगनी चाहिए।’’