" /> सबसे महंगा

सबसे महंगा

ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा को विजडन द्वारा २१वीं सदी के देश के `सबसे मूल्यवान खिलाड़ी’ (एमवीपी) के रूप में नामित किया गया है। टीम में जडेजा का योगदान गेंद, बल्ले और फील्डिंग के साथ उल्लेखनीय रहा है। विजडन ने अपने प्रदर्शन का विश्लेषण करने के लिए क्रिकेट में एक डिटेल्ड टूल का इस्तेमाल किया जिसका नाम क्रिकविज है। विजडन को बताया गया कि जडेजा की एमवीपी रेटिंग ९७.३ आश्चर्यजनक थी, जो श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के बाद दूसरे स्थान पर थी और इस तरह उन्हें २१वीं सदी का दूसरा सबसे मूल्यवान टेस्ट खिलाड़ी चुना गया। विजडन को बताया गया कि, “भारत के स्पिन गेंदबाज रवींद्र जडेजा को देखकर आश्चर्यचकित हो सकता है, यह भारत के नंबर एक खिलाड़ी हैं। आखिरकार, वह हमेशा अपनी टेस्ट टीम में एक ऑटोमेटिक चुनाव की तरह नहीं चुनें जाते हैं। हालांकि, जब वह खेलते हैं तो उन्हें प्रâंटलाइन गेंदबाज के रूप में चुना जाता है और नंबर ६ के रूप में टॉप की बल्लेबाजी करते हैं। उनका मैच में काफी योगदान रहता है।” उन्होंने कहा, `३१ साल के गेंदबाज का औसत २४.६२ का है, जो शेन वार्न की तुलना में बेहतर है और उनकी बल्लेबाजी का औसत ३५.२६ जो शेन वॉटसन से बेहतर है। उनकी बल्लेबाजी और गेंदबाजी का औसत अंतर १०.६२ रन है जो किसी भी खिलाड़ी के इस सदी का दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर है जिसने १,००० से अधिक रन बनाए हैं और १५० विकेट लिए हैं। प्रâेडी ने आगे कहा कि वह एक टॉप क्लास ऑलराउंडर है। २००९ में अपनी शुरुआत करने के बाद, जडेजा ने अब तक ४९ टेस्ट, १६५ वनडे, ४९ टी २० आई में भारत का प्रतिनिधित्व किया है।