समझौता नहीं

भारतीय टेस्ट टीम से बाहर किए जाने के बाद एसेक्स के लिए खेलते समय मुरली विजय ने अपना फार्म फिर हासिल कर लिया, लेकिन इस सलामी बल्लेबाज ने कहा कि उन्होंने काउंटी खेलने के दौरान अपनी तकनीक में बदलाव नहीं किया और ना ही भारतीय टीम में फिर जगह पाने के लिए वह काउंटी खेल रहे थे । तमिलनाडु के इस सलामी बल्लेबाज ने इंग्लैंड में पहले दो टेस्ट में २०, ६, ० और ० रन बनाए जिसकी वजह से उन्हें बाहर कर दिया गया। इसके बाद ससेक्स के लिए खेलते हुए उन्होंने एक शतक और तीन अर्धशतक जड़े। विजय ने कहा कि मैंने कोई बदलाव नहीं किया। वहां खेलने में मजा आया क्योंकि खेलना आसान नहीं था। मैं ससेक्स का शुक्रगुजार हूं जिसने यह मौका दिया। वहां का अनुभव मेरे काफी काम आएगा। उन्होंने डिंडिगुल में मध्यप्रदेश के खिलाफ पहले रणजी ट्राफी मैच के बाद कहा, ‘मैं भारतीय टीम में जगह दोबारा पाने के लिए काउंटी खेलने नहीं गया था। मुझे महसूस हुआ कि अच्छा क्रिकेट खेलने की जरूरत है जिसका मौका वहां मिलेगा।