समलैंगिक सनकी निकला स्टोन किलर

चार महीने में पांच का किया कत्ल
माहिम में सेवा, खाड़ी में मर्डर
माहिम दरगाह के पास स्थित होटलों में नेक लोग गरीबों को खाना खिलाते हैं। इन्हीं होटलों में सेवा (साफ-सफाई) करनेवाला मजदूर स्टोन किलर निकला। विट्ठल शिवलिंगप्पा भजनांगी नामक उक्त स्टोन किलर को पिछले दिनों एक सूरज उर्फ कालू नामक कचरा बीननेवाले की हत्या के आरोप में बांद्रा पुलिस ने गिरफ्तार किया था। समलैंगिक संबंधों के कारण विट्ठल ने कालू की हत्या की थी। अब पुलिसिया पूछताछ में विट्ठल ने जो राज खोले हैं, उससे पुलिस सकते में है। खास बात यह है कि इन तमाम वारदातों के पीछे समलैंगिक संबंध या इन संबंधों का राज खुलने की डर वजह रही है।
बता दें कि ४ जनवरी को बांद्रा पुलिस को बांद्रा-पश्चिम स्थित माहिम कॉजवे के पास पाइप लाइन स्थित झाड़ियों में कालू नामक शख्स की लाश मिली थी। १७ दिनों की मशक्कत के बाद बांद्रा पुलिस की टीम ने कालू की हत्या के आरोप में विट्ठल को कर्नाटक के अफजलपुर इलाके से गिरफ्तार किया था। विट्ठल ने पुलिस को बताया कि वर्ष २०१६ में जीजा की हत्या के आरोप में कर्नाटक पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। करीब ८ महीने जेल में रहने के बाद वह जमानत पर रिहा हुआ और मुंबई भाग आया। माहिम दरगाह के पास विभिन्न होटलों में मजदूरी के दौरान विट्ठल ने कालू सहित पांच अन्य लोगों की हत्या की बात पुलिस को बताई है। ४ अक्टूबर २०१३ को विट्ठल ने अपने साथी मजदूर जमरा की हत्या कर दी थी क्योंकि जमरा ने उसे सूरज के साथ संबंध बनाते देख लिया था। ७ नवंबर, २०१७ को विट्ठल ने बंगाली नामक साथी मजदूर की हत्या की थी, जबकि एक अन्य की लाश पुलिस को नहीं मिल पाई है। इसी तरह विट्ठल अपने शिकार को बांद्रा-पश्चिम (माहिम कॉजवे) के खाड़ीवाले क्षेत्र में मौत के घाट उतारता था, इनमें ४ लोगों की लाश पुलिस को मिल गई है। पुलिस ने दो मामलों में एक्सीडेंटल डेथ का मामला दर्ज किया था तो वहीं दो अन्य मामलों में अप्राकृतिक कारणों से मौत का मामला दर्ज किया था।