" /> सरकारी कर्मचारियों के लिए विरार से चली पहली लोकल ट्रेन

सरकारी कर्मचारियों के लिए विरार से चली पहली लोकल ट्रेन

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अथक प्रयास के परिणाम स्वरूप लोकल ट्रेन की सेवा शुरू हो गई है। पश्चिम रेलवे की पहली लोकल ट्रेन आज सुबह विरार से चर्चगेट के लिए रवाना हुई थी। इन ट्रेनों में आम लोगों को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी गई है । इन ट्रेनों में सरकारी कामकाज से जुड़े लोग ही यात्रा कर सकते हैं, जैसे डॉक्टर, नर्स, राज्य सरकार व  पुलिस-मनपा कर्मचारी-अधिकारी, रेलवे कर्मियों को पहचान पत्र देख कर यात्रा करने की अनुमति दी गई है।यात्रा के दौरान मास्क, सेनिटाइजर एवं सोशल डिस्टेटिंग का पालन करना अनिवार्य होगा ।

मुंबई की लाइफलाइन कही जानेवाली लोकल ट्रेन 86 दिन बाद विरार चर्चगेट सेवा सोमवार से शुरू हो गई। हालांकि, अभी लोकल ट्रेन में सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही यात्रा करने की इजाजत मिली हैं। सोमवार तड़के सुबह 5.30 बजे पहली चली ट्रेन रवाना हुई। ट्रेन में मास्क सेनिटाइजर, समेत सोशल डिस्टेटिंग का पालन किया गया। बताया जा रहा है कि विरार से चर्चगेट रूट पर कुल 73 ट्रेनें चलेंगी और विरार और डहानू रोड स्टेशनों के बीच 8 ट्रेनें चलेंगी। सुबह 5.30 बजे से रात 11.30 बजे तक ट्रेनों का परिचालन जारी रहेगा। सोशल डिस्टेटिंग को ध्यान में रहते हुए 1200 यात्री की क्षमता वाले डिब्बे में मात्र 700 लोग हो यात्रा कर पाएंगे। सरकारी कामकाज में तकरीबन 30 फीसदी लोग वसई विरार क्षेत्र में रहते हैं।