" /> सरकारी रिकॉर्ड बुक में की हेराफेरी : अधिकारी को डहाणू नगर परिषद के मुख्याधिकारी ने किया निलंबित

सरकारी रिकॉर्ड बुक में की हेराफेरी : अधिकारी को डहाणू नगर परिषद के मुख्याधिकारी ने किया निलंबित

उप मुख्याधिकारी को लंबी छुट्टी पर भेजा
25,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया

डहाणू नगर परिषद में अधिकारियों द्वारा सरकारी कामकाज की रिकॉर्ड बुक में हेराफेरी का मामला सामने आया है। रिकार्ड बुक (वेतन रजिस्टर) में सफाई कर्मचारियों की हाजिरी पेंसिल से लगाकर बाद में उसमें हेरफेर करने के आरोप में नगर परिषद के मुख्याधिकारी ने विभाग के उप मुख्य अधिकारी आरोग्य निरीक्षक पर बड़ी कार्यवाही करते हुए उनको लंबी छुट्टी पर भेजने के साथ नगर परिषद में स्वास्थ्य विभाग प्रभारी पद पर तैनात मुकादम को निलंबित कर दिया है।
मिली जानकारी के मुताबित डहाणू नगर परिषद में मुख्य अधिकारी के रूप में हाल ही में (मई महीने) अतुल पिंपले ने पदभार संभाला था, जिसके बाद 4 जून को उन्होंने स्वच्छता विभाग का निरीक्षण किया। रिकॉर्डों की जांच के दौरान उनको गड़बड़ी का अंदेशा हुआ। स्वच्छता विभाग के कर्मचारियों की हाजिरी के साथ उनके वेतन का भुगतान से संबंधित नगर परिषद की सरकारी बुक का निरीक्षण करते समय भारी अनियमितता बरते जाने का खुलासा हुआ। जांच में मई, 2020 से पहले का लेखा-जोखा रिकार्ड बुक में न मिलने से शक के आधार पर मुख्याधिकारी पिंपले ने मई महीने के कर्मचारियों का वेतन रजिस्टर मंगाकर लेखा-जोखा चेक किया तो अधिकारियों द्वारा बड़ी हेराफेरी देखने को मिली। रिकार्ड बुक रजिस्टर में कर्मचारियों की हाजिरी पेंसिल द्वारा लिखी गई थी। साथ ही रजिस्टर में कट-पिट कर व्हाइटनर लगाने जैसा दृश्य देखने को मिला, जिसमें स्वास्थ्य विभाग के मुकादम भरत राउत की लापरवाही उजागिर होने पर उनको तुरंत निलंबित कर दिया गया। साथ ही उप मुख्य कार्यकारी प्रदीप जोशी के इस हेराफेरी में शामिल होने पर उनके ऊपर 25,000 का जुर्माना लगाकर लंबी छुट्टी पर भेज दिया है। साथ ही उनके ऊपर उच्चस्तरीय विभागीय चौकशी की सिफारिश की गई है।