" /> सरकार के ग्रीन सिग्नल का है इंतजार : मोनो और मेट्रो हैं परिचालन को तैयार

सरकार के ग्रीन सिग्नल का है इंतजार : मोनो और मेट्रो हैं परिचालन को तैयार

लॉकडाउन लागू होने के बाद मुंबई की मेट्रो और मोनो रेल भी बंद कर दी गई थी। इसके बावजूद मैनेजमेंट ने उसके रख-रखाव का पूरा ध्यान रखा है। एमएमआरडीए और मेट्रो-1 के मैनेजमेंट का कहना है कि वे सरकार का ग्रीन सिग्नल मिलने का इंतजार कर रहे हैं। आदेश मिलते ही तुरंत यात्रियों की सेवा के लिए मोनो और मेट्रो का परिचालन शुरू कर सकते हैं।
कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए पिछले 2 महीनों से ज्यादा समय से लॉकडाउन के चलते मुंबई की लोकल, बेस्ट बस, मोनो और मेट्रो जैसे सार्वजनिक परिवहन बंद हैं लेकिन लॉकडाउन में दी जा रही ढील को देखते हुए जल्द ही ये सेवाएं शुरू होने की उम्मीद की जा रही है।
इसको देखते हुए मैनेजमेंट ने कोरोना के बाद सुरक्षित यात्रा के लिए उपाय योजना बनाना शुरू कर दिया है। यात्रियों द्वारा सुरक्षित सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करने में आसानी हो और इसके लिए डिब्बों में स्टीकर्स के जरिए यात्रियों के बीच डेढ़ मीटर का अंतर हो, ऐसी जगह तैयार की जा रही है। जानकारी के मुताबिक एमएमआरडीए और मेट्रो-1 के मैनेजमेंट ने कहा है कि मोनो या मेट्रो चलाने के लिए अभी सरकार की तरफ से कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है परंतु सरकार के आदेश पर किसी भी क्षण सेवा शुरु करने के लिए तैयारी पूरी हैं। प्रशासन की ओर से बताया गया है कि फिलहाल स्टीकर्स लगाने का काम अंतिम दौर में है। इसके अलावा ट्रेन में चढ़ते और उतरते समय सुरक्षित सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए स्थानों को चिन्हांकित किया गया है। कुछ दिनों पहले ही सिग्नल और अन्य तकनीकी उपकरणों का मेंटेनेंस किया गया है। इसके साथ ही मेट्रो और मोनो रेल में स्वच्छता और सेनिटाइजेशन का काम किया जा रहा है। मेट्रो और मोनो से करीब साढ़े पांच लाख यात्री रोजाना यात्रा करते हैं।