" /> सरकार के पाले में आईपीएल की गेंद

सरकार के पाले में आईपीएल की गेंद

आईपीएल कराने पर अड़ी बीसीसीआई ने गेंद सरकार के पाले में डाल दी है। जबकि ये कहीं भी हो, बिना दर्शक के ही होना है। और ऐसे में जहाँ कहीं भी हो कोई फर्क नहीं पड़ता। मगर होना आवश्यक है। जी हां, यही खेल खेला जा रहा है और इसकी एक सीधी सी वजह है धन लोलुपता। सरकार परमिशन दो! बोर्ड ने कहा कि सरकार से मांग की जा रही है। दरअसल, इस साल होने वाले टी२० वर्ल्ड कप के स्थगन के बाद बीसीसीआई ने आईपीएल का आयोजन करने की रणनीति पर तेजी से काम शुरू कर दिया है। बीसीसीआई की योजना है कि देश में कोविड- १९ की स्थिति को देखते हुए इस लीग का आयोजन इस साल यूएई में किया जाए। भारतीय क्रिकेट बोर्ड अब सरकार से इस लीग के विदेश में आयोजन करने की परमिशन मांगी है। आईपीएल के चेयरमैन बृजेश पटेल ने बताया, ‘कोरोनावायरस के चलते स्थगित हुआ आईपीएल अब यूएई में आयोजित होगा। हमने सरकार से इसकी मंजूरी मांगी है। हफ्ते-१० दिन में हम इस संबंध में गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग बुलाने वाले हैं। इस मीटिंग में आगे की प्लानिंग पर चर्चा करेंगे।’आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग में टूर्नमेंट के शेड्यूल पर भी चर्चा होगी। अभी तक खबरें हैं कि लीग की सभी प्रâैंचाइजियां और बीसीसीआई इस लीग के सभी ६० मैच कराने को तैयार हैं।बीसीसीआई ने सभी फैंचाइजियों को पहले ही इशारा कर दिया था कि आईसीसी वर्ल्ड कप स्थगित होने जा रहा है इसलिए वह आईपीएल को यूएई में कराने के लिए राजी है और प्रâैंचाइजियां इसी पर काम करना शुरू कर दें। प्रâैंचाइजियों ने पिछले सप्ताह से ही वहां लॉजिस्टिक और होटल ढूंढने शुरू कर दिए थे और बाकी योजनाओं पर भी काम चालू कर दिया था।