सामाजिक और आध्यात्मिक क्षेत्र का तारा टूट गया! उद्धव ठाकरे ने दी आदरांजलि

`भय्यूजी महाराज के आकस्मिक निधन से सामाजिक और आध्यात्मिक क्षेत्र का एक तारा टूट गया है’। इन शब्दों में शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपनी संवेदना व्यक्त की।
उद्धव ठाकरे ने कहा कि `भय्यूजी महाराज और मेरा करीबी परिचय था। इंसानों को जोड़नेवाले और इंसानों को अपना बनानेवाले, ऐसा उनका स्वभाव था। उन्हें संत की उपाधि मिली थी लेकिन और वे एक उत्तम इंसान थे। समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उन्होंने उल्लेखनीय कार्य किया। सैकड़ों अनाथ बच्चों को उन्होंने आधार दिया। आश्रमों को केवल उन्होंने दत्तक ही नहीं लिया बल्कि वहां के बच्चों के वे पालक भी बने। अकालग्रस्त और आत्महत्याग्रस्त किसानों के बच्चों को आधार देने का काम उन्होंने हमेशा किया। ऐसे योगदान के चलते वे समाज में लोकप्रिय बने। उनके जीवन का दुर्भाग्य अस्त हुआ। मैं, मेरे लाखों शिवसैनिकों की ओर से भय्यूजी महाराज को आदर की श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं’।

…अभी विश्वास नहीं हो रहा है, आदित्य ठाकरे ने व्यक्त की भावना
राष्ट्र संत भय्यूजी महाराज ने कल इंदौर स्थित अपने निवास पर खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। शिवसेना नेता व युवासेनाप्रमुख आदित्य ठाकरे ने भय्यूजी महाराज की आत्महत्या पर ट्वीट कर अपनी भावना व्यक्त की है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि भय्यूजी महाराज की आत्महत्या पर गहरा दुख हुआ। इस खबर से धक्का लगा है। उनकी आत्महत्या की खबर पर अब भी विश्वास नहीं हो रहा है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे। ऐसा ट्वीट करके आदित्य ठाकरे ने भय्यूजी महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित की है।