" /> सायना की रिस्क

सायना की रिस्क

कोरोना वायरस ने विश्व में तहलका मचा रखा है। कई टूर्नामेंट रद्द हो रहे हैं तो कई टूर्नामेंट्स के लिए खिलाड़ी नहीं जा रहे। यहां तक कि इसकी वजह से ओलिंपिक जैसा महाआयोजन संकट में फंसा है मगर बैडमिंटन की हिंदुस्थानी स्टार सायना नेहवाल ने रिस्क लेते हुए इंग्लैंड जाने का पैâसला किया है। एक ओर एचएस प्रणॉय सहित कई हिंदुस्थानी बैडमिंटन खिलाड़ियों ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अगले हफ्ते होनेवाली ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप से हटने का पैâसला किया है, उनके अलावा चिराग शेट्टी और सत्विकसाईराज रंकीरेड्डी दुनिया की १०वें नंबर की पुरुष जोड़ी ने यह पैâसला किया है। ब्रिटेन ने साफ किया था कि पूरे यूके में कोरोना वायरस के मामले चार गुना बढ़ चुके हैं। इस बड़े खतरे के बावजूद सायना नेहवाल ने बर्मिंघम जाने का पैâसला किया है। ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप सत्र का पहला विश्व टूर सुपर १००० टूर्नामेंट है जो ११ मार्च से शुरू होना है, ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप टोक्यो २०२० क्वालिफिकेशन के लिए काफी अहम है। यही कारण है कि टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करने के लिए संघर्ष कर रही सायना नेहवाल और श्रीकांत ने बर्मिंघम जाने का पैâसला किया है।