सारे पागल हैं!– इलियाना डि़क्रूज

गोवा की राजधानी पणजी में जन्मी मॉडल कम अभिनेत्री इलियाना डि़क्रूज ने खुद को साउथ में खासकर तेलुगू और तमिल फिल्मों में स्थापित किया। अनुराग बसु की फिल्म ‘बर्फी’ से अपने करियर की शुरुआत करनेवाली इलियाना ने ‘रुस्तम’, ‘मैं तेरा हीरो’, ‘रेड’, ‘मुबारकां’ जैसी फिल्मों में नजर आर्इं। इलियाना की फिल्म ‘पागलपंती’ रिलीज पर है। पेश है अपनी नई फिल्म, करियर और पर्सनल जीवन के बारे में इलियाना से  पूजा सामंत की हुई बातचीत के प्रमुख अंश-

अनीस बज्मी निर्देशित फिल्म ‘पागलपंती’ में आपका किरदार कितना अलग है?
किरदार अलग यानी ३६० डिग्री अलग हो सकता है। अगर फिल्म अलग हो, कहानी भी रूटीन न हो, तब जाकर अलग हो सकता है। अनीस बज्मी की ज्यादातर फिल्मों का जॉनर कॉमेडी होता है और उनकी हर कॉमेडी फिल्म यूनिक होती है। २२ नवंबर को रिलीज होनेवाली फिल्म ‘पागलपंती’ के सारे किरदार तकरीबन पागल हैं। अगर थोड़ी सेंसिबल हूं तो वो मैं हूं। फिल्म में मेरे दोस्त जॉन हैं, जिन्हें साढ़ेसाती चल रही है। मैं उनकी प्रॉब्लम्स दूर करने की कोशिश करती हूं। फिर क्या-क्या मजेदार पल और परेशानियां सामने आती हैं, उसे पूरे ह्यूमरस अंदाज में दिखाया गया है। अनिल कपूर, जॉन अब्राहम, अरशद वारसी, पुलकित सम्राट, सौरभ शुक्ला इनके अलावा मैं, कीर्ति खरबंदा, उर्वशी रौतेला फिल्म की लीड स्टार कास्ट हैं। सिचुएशनल कॉमेडी का इससे बड़ा उदाहरण नहीं है। यह एक साफ-सुथरी-मनोरंजक पारिवारिक फिल्म है। खुशी और हंसी से सराबोर करनेवाली फिल्म है ‘पागलपंती’।
आपको साउथ की फिल्मों में काम करना ज्यादा पसंद है या हिंदी फिल्मों में?
इस सवाल का जवाब दे पाना बेहद मुश्किल है। मैंने अपना करियर साउथ से शुरू किया था और लोग वहां मुझे लीडिंग लेडी मानने लगे। वहां के वर्क कल्चर से मैं घुल-मिल गई। लेकिन जब फिल्म ‘बर्फी’ से मैंने हिंदी में शुरुआत की तो धीरे-धीरे मैं यहां का वर्क कल्चर समझने लगी। अब दोनों इंडस्ट्रीज मेरी दार्इं और बार्इं आंखों जैसी हैं। मैं ये वैâसे कह सकती हूं कि कौन-सी आंख मुझे ज्यादा पसंद है?
सोशल मीडिया पर आपके लाख से अधिक फॉलोअर्स हैं। अपने फॉलोअर्स की टिप्पणियों और नेगेटिव बातों को कितनी गंभीरता से लेती हैं आप?
अपने फॉलोअर्स का मैं रिस्पेक्ट करती हूं। मैं अपनी तस्वीरों को इंस्टा पर शेयर भी करती हूं लेकिन हमेशा नेगेटिव बोलनेवाले भी लोग हर जगह होते हैं, उन पर ध्यान नहीं देना चाहिए और मैं भी वही करती हूं।
अपनी व्यक्तिगत जिंदगी में आप किसी के रिलेशनशिप में थीं और अब उससे अलग हो गई हैं। इस घटना को भुलाना कितना मुश्किल था आपके लिए?
किसके जीवन में उतार-चढ़ाव नहीं आते? हम सभी आशा-निराशा के बादलों से आए दिन गुजरते हैं। क्या उसकी चर्चा कर सुर्खियां बटोरना उचित होगा? मैंने जो हुआ उसे जीवन से दूर किया और अपने करियर पर ध्यान दिया। मुझे यही करना चाहिए था, सो वही किया।
आपकी आनेवाली फिल्मों में ‘बिग बुल’ की काफी चर्चा है, क्या इस फिल्म में आपने निगेटिव किरदार करेंगी?
इस फिल्म के बारे में अभी से कुछ कहना गलत होगा। हो सकता है कि ग्रे किरदार हो या मैं वयस्क महिला का किरदार निभाऊं। अभी मुझे फिल्म ‘आंखें-३’ के बारे में न पूछिए। २०२० आते ही मैं तीन-चार फिल्मों में व्यस्त रहूंगी।

जन्म स्थान – पणजी, गोवा
कद – ५ फुट ६ इंच
वजन – ५३ किलो
प्रिय परिधान – प्रâॉक्स, डेनिम
पसंदीदा व्यंजन – गोअन फिश करी-चावल
प्रिय रंग – क्रीम, पिस्ता
पसंदीदा कलाकार – जूलिया रॉबर्ट्स