" /> सीएए पर भिड़े मियां-बीवी, ‘मुझे रोज धरने पर भेजते हैं’

सीएए पर भिड़े मियां-बीवी, ‘मुझे रोज धरने पर भेजते हैं’

दिल्ली का शाहीनबाग देशभर में सीएए के विरोध-प्रदर्शन का केंद्र बना हुआ है। वहां पिछले कई दिनों से महिलाएं धरने पर बैठी हुई हैं। उसी तर्ज पर देश के दूसरे कई हिस्सों में भी धरना-प्रदर्शन चल रहा है। इसी सिलसिले में यहां अलीगढ़ में भी धरना-प्रदर्शन चल रहा था, जहां महिलाएं बैठी थीं। मगर कल इस प्रदर्शन में एक रोचक मोड़ देखने को मिला जब एक मियां-बीवी के बीच इस धरना-प्रदर्शन को लेकर जोरदार झड़प हो गई। मामला इतना गंभीर हो गया कि महिला ने पुलिस से अपने पति की शिकायत कर दी। फिर पुलिस को महिला के घर पर जाकर मामला सुलझाना पड़ा।
मिली जानकारी के अनुसार अलीगढ़ में एक महिला ने आरोप लगाया है कि उसका पति उसे जबरन सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन में शामिल होने के लिए भेजता है। अलीगढ़ में पुलिस लोगों को समझा रही है कि वे अनावश्यक रूप से सीएए के खिलाफ धरने में शामिल न हों। इस दौरान जब पुलिस अलीगढ़ में एक घर में पहुंची तो महिला अपने पति पर बरस पड़ी।
महिला ने कहा कि एक सप्ताह से उसका पति सीएए के खिलाफ चल रहे धरने-प्रदर्शन में शामिल होने के लिए उसे जबरन भेजता था। महिला ने कहा कि वो झूठ नहीं बोल रही है। पुलिस के सामने महिला ने कहा, ‘रोज जान खाते हैं, कहते हैं वहां धरने लग रहे हैं…चली जाओ…मैं झूठ नहीं बोल रही हूं…इन्होंने एक हफ्ते से मेरी जान खा रखी है।’ हालांकि महिला के पति बीच में कह रहे हैं कि उनकी पत्नी झूठ बोल रही है। पुलिस ने इस बाबत महिला के पति को कहा कि वे अपनी पत्नी पर दबाव न बनाएं।
सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के कारण अगर पति-पत्नी में लड़ाई हो जाए तो इसे क्या कहा जाएगा। दोनों ने ही एक-दूसरे पर पुलिस के सामने झूठ बोलने का आरोप लगाया। दिलचस्प बात यह है कि ये दंपति उम्रदराज हैं। ऐसे में पुलिस को इन दोनों का झगड़ा छुड़ाना और दोनों के बीच सुलह-सफाई करानी पड़ी।
बता दें कि अलीगढ़ में सीएए और एनआरसी के विरोध में जीवनगढ़ बाईपास के पास चल रहे धरने को प्रशासन ने दो दिन पहले हटा दिया था। प्रशासन को जानकारी मिली कि सिविल लाइंस और क्वार्सी थाना क्षेत्र में कुछ लोग महिलाओं व पुरुषों को अनूप शहर चुंगी पर धरने के लिए उकसा रहे हैं। इसको लेकर पुलिस प्रशासन ने नई पहल शुरू की है। अपर सिटी मजिस्ट्रेट रंजीत सिंह और सीओ अनिल समानिया के नेतृत्व में पुलिस और प्रशासन की टीम ने क्वार्सी थाना क्षेत्र और सिविल लाइन थाना क्षेत्र के मोहल्लों में जाकर महिलाओं-पुरुषों से अपील की कि वे बिना जरूरी धरना-प्रदर्शन में न जाएं। लोगों को समझाने के लिए खुद सिटी मजिस्ट्रेट दरवाजे-दरवाजे पर लोगों के बीच पहुंचे।
पुलिस ने कहा कि अगर कोई जबरन किसी को धरने पर भेजता है तो उसे नोटिस दी जाएगी। अलीगढ़ के अपर सिटी मजिस्ट्रेट रंजीत सिंह ने बताया कि चुंगी गेट पर जो लोग धरने में जाते थे, उसमें से कई महिलाओं के बारे में जानकारी मिली कि कुछ लोग इन्हें उकसा रहे हैं। रंजीत सिंह ने कहा कि उन्होंने सभी लोगों को समझाया कि अनावश्यक रूप से शांति भंग न करें। उन्होंने कहा कि शांति भंग करनेवाले को नोटिस दिया जाएगा।