सीनियर कराते थे फोन टैप!, सुसाइड नोट में महिला अफसर ने लिखी खौफनाक दास्तां

हैदराबाद भेल यूनिट में बतौर डिप्टी ऑफिसर (अकाउंट्स) के पद पर तैनात मध्य प्रदेश के भोपाल की नेहा चौकसे ने मियांपुर स्थित अपने निवास पर सुसाइड कर लिया। ३३ वर्षीय नेहा ने सुसाइड नोट छोड़ा है, जिसमें उन्होंने भेल के सीनियर अफसर और उसके साथियों द्वारा फोन हैक किए जाने और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। नेहा चौकसे १० जून, २०१९ से पहले भेल भोपाल यूनिट में तैनात थीं। उनकी आत्महत्या की खबर लगते ही भेल भोपाल यूनिट के अधिकारी और कर्मचारी स्तब्ध हैं।
दरअसल नेहा मूल रूप से भोपाल की रहनेवाली थीं और भेल हैदराबाद से पहले भेल भोपाल में ही नौकरी करती थीं। शादी के बाद पति सुनील खंडेलवाल के साथ रहने के लिए इसी साल जून में नेहा ने अपना ट्रांसफर भोपाल से हैदराबाद करवा लिया था और जुलाई में भेल हैदराबाद में नेहा की जॉइनिंग हो गई थी। नेहा के रिश्तेदारों का आरोप है कि भेल भोपाल से ही नेहा के साथ प्रताड़ना का सिलसिला शुरू हुआ था, जो भेल हैदराबाद तक जारी रहा। रिश्तेदारों का यह भी आरोप है कि भेल हैदराबाद में नेहा को इतना ज्यादा प्रताड़ित किया गया कि वो ये दबाव ४ महीने भी नहीं झेल पाई और सुसाइड कर लिया। नेहा ने अपने सुसाइड नोट में ऑफिस के लोगों द्वारा प्रताड़ना से तंग आकर सुसाइड करने की पूरी कहानी लिखी है। नेहा चौकसे ने सुसाइड नोट में भेल हैदराबाद के डीजीएम फाइनेंस आर्थर किशोर कुमार सहित अन्य अधिकारियों के अलावा भेल भोपाल में काम के दौरान वित्त विभाग में कार्यरत पांच महिला सहकर्मियों पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं। साथ ही नेहा ने भेल के सीनियर अफसर और उसके साथियों द्वारा फोन हैक किए जाने का भी आरोप लगाया है। इतना ही नहीं, सुसाइड करने से पहले नेहा ने साइबर सेल में फोन हैक किए जाने की शिकायत भी दर्ज कराई थी। नेहा के घरवालों का कहना है कि वह अक्सर फोन पर उनसे बात करते हुए कहती थी कि उसका फोन टैप हो रहा है। नेहा के परिवारवालों का कहना है कि ये सिर्फ एक आत्महत्या का मामला नहीं है। उनका आरोप है कि इसके पीछे कोई साजिश है, जिसमें नेहा को इस कदर प्रताड़ित किया गया कि उसने आत्महत्या कर ली। नेहा के घरवाले उनके बारे में बताते हुए रो पड़ते हैं कि वह हमेश खुश रहती थी और हंसती रहती थी। परिवारवालों का यह भी कहना है कि भोपाल यूनिट में प्रताड़ित होने के बाद ही नेहा ने कई बार शिकायत की थी लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। अब परिवारवालों ने इस पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।

नेहा ने खुद लिया था तबादला-पीआरओ
भोपाल। भेल भोपाल के पीआरओ संजय राजवंशी ने बताया कि नेहा वित्त विभाग में तैनात थीं। करीब डेढ़ साल पहले उनकी शादी हुई थी। उनके पति हैदराबाद में रहते हैं इसलिए जून में उन्होंने भेल हैदराबाद यूनिट में तबादला ले लिया था। उनकी ज्वॉइनिंग भेल झांसी यूनिट की थी। भेल भोपाल यूनिट में कार्य के दौरान उन्होंने कोई शिकायत नहीं की थी।

ये भी पढ़ें… भेल अधिकारी नेहा के परिजनों ने की सीबीआई जांच की मांग