" /> सीलबंद इमारतों में बंट गया कंटेनमेंट जोन मनपा ने किया विभाजन

सीलबंद इमारतों में बंट गया कंटेनमेंट जोन मनपा ने किया विभाजन

इलाकों की बजाय अब इमारतें होंगी सील
सोसायटी रखेगी कोरोना संक्रमित परिवार पर नजर
लॉकडाउन ४ में राज्यों को जोन निर्धारण का अधिकार दिया गया है। कोरोना से बुरी तरह प्रभावित मुंबई में अब कंटेनमेंट जोन का विभाजन किया गया है। अब सीलबंद जोन का विकल्प शामिल गिया गया। इसके अनुसार मुंबई में कंटेनमेंट जोन की संख्या घटकर ६६१ हो गई है और सीलबंद इमारतों की संख्या १,११० हो गई हैं। इससे पहले मुंबई में कोरोना पॉजिटिव केस मिलने पर पूरे इलाकों को कंटेनमेंट जोन बना दिया जाता था।
नए विभाजन नियम के अनुसार, अगर किसी इमारत में कोरोना मरीज पाया जाता है तो पूरे इलाके के बजाय उस इमारत या फिर इमारत के कुछ हिस्से को सीलबंद किया जाएगा। इस नियम में हाउसिंग सोसायटी को भी शामिल किया जाएगा। कोरोना संक्रमित परिवार और उनके नजदीक रहने वाले लोगों को अब उन पर नजर बनाएं रखनी होगी। ऐसे संक्रमित सोसायटी में मेडिकल सुविधा के अलावा किसी भी प्रकार के वस्तु बेचने और अन्य सेवा दे रहे व्यक्तियों को प्रवेश के लिए सख्त मनाही रहेगी।
सिर्फ मुंबई में २० हजार के पार हुए मामले
रविवार शाम जारी आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की कुल संख्या अब ३३०५३ हो गई है। राज्य में अब तक कोरोना से ठीक हुए कुल ७६८८ लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। वहीं मुंबई शहर में अब तक कोरोना के कुल २०१५० मरीज हो गए हैं।