" /> सूने पड़े हैं मैदान…!

सूने पड़े हैं मैदान…!

कैसा गुबार चश्मे मोहब्बत में आ गया, सारी बहार हुश्न की मिट्टी में मिल गई। कोरोना वायरस की वजह से खेलों व खिलाड़ियों को रोजाना बुरी खबर सुनने को मिल रही है, उस पर यह शेर सटीक बैठता है। इसका सबसे बड़ा दुष्प्रभाव क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल, गोल्फ, टेनिस, मैराथन, बास्केटबॉल, मोटर स्पोर्ट्स, एथलेटिक्स, सायकलिंग आदि की विभिन्न खेल स्पर्धाओं पर पड़ा है। उन्हें रद्द या आगे बढ़ा दिया गया है। कुछ को बंद दरवाजों के पीछे दर्शकविहीन रूप में आयोजित कर खानापूर्ति की जा रही है। साल के १२ महीने, दिन-रात गुलजार रहनेवाले खेलों के मैदान, फील्ड, पिच, ग्राउंड, स्टेडियम, ट्रैक पिछले कई महीनों से सूने पड़े हैं। कोरोना ने जिंदगी के उत्साह के संगीत खेल-कूद को बेरौनक कर दिया है।
२४ जुलाई से ९ अगस्त के बीच होनेवाले टोकियो ओलिंपिक अब अगले साल २३ जुलाई से ८ अगस्त के बीच होंगे। इस साल का इंडियन गोल्फ टूर्नामेंट भी रद्द किया जा चुका है। दिल्ली का शूटिंग वर्ल्ड कप वैंâसिल है। फुटबॉल बेल्जियम कप फाइनल, अप्रâीकन नेशन्स चैंपियनशिप, कोपा अमेरिका, यूरो, एशियन वर्ल्ड कप आदि को आगे खिसकाना पड़ा। मैराथन दौड़ों में लंदन, बोस्टन, एम्स्टर्डम, पेरिस, बार्सिलोना मैराथन का भी यही हाल हुआ। इंटरनेशनल टेनिस फेडरेशन ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से ९०० से ज्यादा टूर्नामेंट रद्द करने पड़े। यहां तक कि लॉन टेनिस की विश्व चैंपियनशिप कही जानेवाली विम्बलडन भी आयोजित नहीं हो पाई। मोटर स्पोर्ट्स में फार्मूला वन, ब्रिटिश ग्रांड प्रिक्स अब बंद दरवाजों में होगी। संभवत: इसी तरह हंगेरियन फार्मूला वन, अजरबेजान, बहरीन व वियतनाम ग्रांड प्रिक्स का आयोजन होगा।
कोरोना वायरस महामारी के कारण स्वास्थ्य खतरे को देखते हुए अब तक सैकड़ों क्रिकेट टूर्नामेंट, सीरीज व दौरे रद्द किए जा चुके हैं। इस मामले में सबसे ज्यादा परेशानी व बदनामी पाकिस्तान को झेलनी पड़ी है। प्रधानमंत्री इमरान खान के मिसमैनेजमेंट का खामियाजा देश के साथ क्रिकेट को बुरी तरह झेलना पड़ा है। पूर्व क्रिकेटर तौफीक उमर व पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी के पॉजिटिव होने के बाद पाकिस्तान टीम के कुल १० खिलाड़ी पॉजिटिव पाए गए। पहले ओपनर फखर जमान, तेज गेंदबाज मोहम्मद हसनैन, ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज, मोहम्मद रिजवान, शादाब खान व वहाब रियाज का रिजल्ट पॉजिटिव आया तो बाद में कासिफ भट्टी, हारिस रऊफ, हसन अली व इमरान खान संक्रमण की चपेट में आ गए। इस वजह से एक समय तो टीम का इंग्लैंड दौरा भी खटाई में पड़ गया था।
न्यूजीलैंड के बांग्लादेश के टेस्ट दौरे को स्थगित कर दिया गया। बांग्लादेश के तीन खिलाड़ियों- एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय टीम के पूर्व कप्तान मशरेफ मुर्तजा, नजमुल इस्लाम और नफीस इकबाल के कोरोना वायरस के लिए पॉजिटिव पाए जाने के बाद यह कदम उठाया गया। बांग्लादेश का पाक, आयरलैंड व ब्रिटेन दौरा, ऑस्ट्रेलिया का बांग्लादेश दौरा, न्यूजीलैंड का नीदरलैंड, आयरलैंड, स्कॉटलैंड व वेस्टइंडीज दौरा भी स्थगित हुआ। ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड की पहले तीन मैचों की वन डे सीरीज फिर टी-२० सीरीज रद्द हुई। हिंदुस्थानी आईपीएल तथा हिंदुस्थान की दक्षिण अप्रâीका सीरीज का भविष्य अनिश्चित है। टी-२० चैंपियनशिप अब २०२१ में होनेवाली है। कोरोना काल में जो क्रिकेट मैच हो भी रहे हैं, उसके लिए नए नियम बनाए गए हैं। अब खिलाड़ियों के जश्न का तरीका भी बदला है। इंग्लैंड की टीम ने प्रैक्टिस मैच में नए नियमों के मुताबिक जश्न मनाया। इस प्रैक्टिस मैच में खिलाड़ी हाथ मिलाने, हाई फाइव की बजाय कोहनी टकराते हुए विकेट का जश्न मनाते देखे गए। अब गेंद पर इस्तेमाल की जाने वाली लार को बैन कर दिया गया है। इसके साथ ही साथ खिलाड़ियों को सोशल डिस्टेंसिंग को भी फॉलो करने के लिए कहा गया है।
कोरोना ने पहला शिकार खिलाड़ियों को ही बनाया था। जी हां, पिछले साल १८ से २७ अक्टूबर के बीच चीन के वुहान में, जहां से कोरोना की शुरुआत हुई, मिलिट्री वर्ल्ड गेम्स का आयोजन हुआ था। जिसके २७ खेलों की ३१६ स्पर्धाओं में दुनियाभर की सेनाओं से खिलाड़ी शामिल हुए। इसमें हिंदुस्थान की ५४ सदस्यीय टीम ने भी ९ खेलों में हिस्सा लेकर १ स्वर्ण, १ रजत तथा २ कांस्य पदक जीते थे। चीन ने इस गेम्स में सबसे ज्यादा २३९ पदकों पर कब्जा किया था। १०० देशों के ९००० से ज्यादा खिलाड़ी तथा खेल आयोजन में मदद के लिए ढाई लाख स्वयंसेवक। इस दौरान तरह-तरह के खाने की जरूरत और मांग काफी बढ़ी। इसे पूरा करने के लिए वुहान के सी फूड मार्केट तथा वेट मार्केट (जहां मांस और फल-सब्जियां साथ-साथ मिलती हैं) के व्यापारी गोदामों में जिंदा और मुर्दा जानवर एक साथ रखने लगे। इससे संक्रमित जानवर (जो चमगादड़ माना जा रहा है) से वायरस हर जगह तेजी से फैलता चला गया। गेम्स के लिए वुहान पहुंचे विदेशी खिलाड़ी भी मान चुके हैं कि वे उस दौरान बीमार पड़े थे। प्रतिस्पर्धी खिलाड़ियों में से कई अपने देश लौटकर कोरोना संक्रमित पाए गए। प्रâेंच पेंटाथलीट ३१ वर्षीय एलोड़ी क्लोवेल ने आरोप लगाया कि वो और उनकी पार्टनर २७ साल की वेलेंटाइन बेलाड दोनों ही खेल के दौरान कोरोना से संक्रमित हुए। यही बात एक इटालियन फेन्सर ३७ साल के मत्तेओ टैगली रियाल ने भी कहा कि खेल के दौरान उनके आसपास के सारे विदेशी खिलाड़ी बीमार लग रहे थे और सबके लक्षण वर्तमान कोविड-१९ जैसे थे। मत्तेओ, उनके बच्चे व उनकी गर्लप्रâेंड भी कोरोना से ग्रस्त पाए गए। एक इंटरव्यू में जर्मन वालीबॉल खिलाड़ी जैकलीन बोक ने कहा कि वे और उनके साथी वुहान में अपने आखिरी दो दिनों में ही बीमार पड़ गए थे। सारे लक्षण कोरोना के थे। बोक के अनुसार उनके जर्मनी लौटने के कुछ दिनों बाद ही उनके पिता को भी उसी तरह की सर्दी-बुखार ने जकड़ लिया। लक्जेमबर्ग के ट्राइ एथलीट २२ वर्षीय ऑलिवर जॉर्ज भी बीमार पड़ गए थे। स्पेन की १४० सदस्यीय टीम वुहान गई थी। जिसके २ लोग वुहान में बीमार पड़े, २ खिलाड़ी स्पेन लौटने पर बीमार हो गए। इसके बाद आया चीनी नव वर्ष। वुहान से इस मौके पर ५० लाख से ज्यादा लोग बाहर घूमने गए, जिससे ये वायरस बाहर फैल गया। फिर इसकी जद में खिलाड़ी भी आते गए।
दुनिया के नंबर १ टेनिस स्टार सबिर्‍या के नोवोक जोकोविच व उनकी पत्नी जेलेना, टेनिस खिलाड़ी ग्रिगोर दिमित्रोव, बोरोना कोरिक व विक्टर त्रोकी, फुटबॉल में इंग्लिश प्रीमियर लीग क्लब आर्सेनल के मुख्य कोच माइकल अटेरता, चेल्सी के वैâलम हडसन ओडोई, जर्मन खिलाड़ी टिमो ह्यूबर्स, जुवेंट्स व इटली के डिफेंडर डेनियल रुगानी के साथ हिंदुस्थान के स्टार बॉक्सर एशियाड में गोल्ड मेडलिस्ट दिंको सिंह पॉजिटिव पाए गए हैं।
बास्केटबॉल की एनबीए के कुल २५ खिलाड़ी अब तक कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। मेजर बेसबॉल लीग-एमएलबी ने अपने ३१ खिलाड़ियों के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की है। एमएलबी की ओर से जारी बयान में ३१ खिलाड़ियों के अलावा ७ स्टाफ के भी कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि है। लीग के मुताबिक उसके ३० क्लब में से १९ में १ या उससे अधिक लोगों में कोरोना के लक्षण मिले हैं। सचमुच कोरोना ने खेल-कूद की रौनक छीन ली है।