सूपड़ा साफ!, कार्यकर्ताओं को रोकने घड़ीयाली आंसू बहाए

आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राकांपा को जिस प्रकार से एक के बाद एक झटका लग रहा है और उसके दिग्गज नेता पार्टी को छोड़कर युति में शामिल हो रहे हैं, इससे राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील, अजीत पवार जैसे पार्टी के दिग्गज नेता अंदर से हिल गए हैं। राजनीति के माहिर माने जानेवाले शरद पवार भी इस भगदड़ को रोकने की हर प्रकार कोशिश कर रहे हैं परंतु उन्हें सफलता नहीं मिल रही है। बताया जाता है कि राकांपा नेताओं ने सांसद अमोल कोल्हे के माध्यम से राकांपा कार्यकर्ताओं के सामने भावनात्मक घड़ियाली आंसू बहाकर राकांपा में मची भगदड़ को रोकने का अंतिम प्रयत्न किया है। राकांपा सांसद अमोल कोल्हे ने पुणे में आयोजित एक सभा में राकांपा कार्यकर्ताओं के समक्ष भावनात्मक अपील करते हुए शपथ दिलाई है कि ‘किसी भी हालत में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार का साथ नहीं छोड़ेंगे। जब तक शरीर में सांस रहेगी, तब तक राकांपा अध्यक्ष के साथ रहेंगे।’ राकांपाइयों के यह घड़ियाली आंसू पार्टी की भगदड़ को रोकने में कितनी कामयाब होते हैं, यह तो आनेवाला समय बताएगा।