सूरत में सिसकियां, कोचिंग क्लास में आग से १९ छात्रों की मौत

सूरत के मुंबई-अमदाबाद हाई-वे के पास स्थित एक कमर्शिल कॉम्प्लेक्स में कल भीषण आग लग गई। आग तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में स्थित कोचिंग में लगने से बच्चों की सिसकियां गूंज उठी और आग में फंसे बच्चे जान बचाने के लिए बिल्डिंग से कूदना शुरू कर दिया। खबर लिखे जाने तक १९ छात्रों की मौत हो गई है। सूरत के पुलिस कमिश्नर सतीश कुमार मिश्रा ने १९ लोगों की मौत की पुष्टि की है।
सरथना इलाके में स्थित तक्षशिला कॉम्प्लेक्स एक कमर्शिल कॉम्प्लेक्स है और इसमें कई दुकानें और कोचिंग सेटर्स हैं। मृतकों में ज्यादातर छात्र हैं, जो कॉम्प्लेक्स में स्थित एक कोचिंग में पढ़ने आए थे। हालांकि आग लगने की क्या वजह है? खबर लिखे जाने तक आग लगने का कारण पता नहीं चल पाया था। मौके पर पहुंची दमकल विभाग की १८ गाड़ियों ने काफी मशक्कल के बाद आग पर काबू पाया। गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय ने बयान जारी कर कहा कि मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने आग की घटना की जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने घटना में जान गंवानेवाले हर छात्र के परिवार को ४ लाख रुपए की आर्थिक मदद देने का एलान किया है। इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गहरा दुख व्यक्त किया है, उन्होंने कहा कि सूरत में आग की घटना से बेहद व्यथित हूं। मृतकों के परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। मैंने गुजरात सरकार और स्थानीय प्रशासन से प्रभावित लोगों को हरसंभव मदद देने के लिए कहा है।