सेकेंड क्लास का टिकट फर्स्ट क्लास का सफर

आगामी दिसंबर से ट्रांस हार्बर यात्रियों को कूल-कूल सफर की सौगात मिलेगी। मध्य रेलवे उक्त मार्ग पर कूल-कूल एसी लोकल चलाने की योजना बना रही है। माना जा रहा है कि इस मार्ग पर सफर करनेवाले फर्स्ट क्लास के अधिकतर यात्री एसी लोकल को अपनाएंगे। ऐसे में एक रेक कम हो जाने से सेकेंड क्लास के यात्रियों को कोई असुविधा न हो इसलिए सामान्य लोकल के एक फर्स्ट क्लास कोच में सेकेंड क्लास के यात्रियों को सफर करने की अनुमति देने पर रेलवे विचार कर रही है। ऐसे में सेकेंड क्लास का टिकट लेकर सफर करनेवाले यात्रियों का सफर फर्स्ट क्लास का साबित होगा।
नवंबर में आएगी एसी लोकल
मध्य रेलवे पर पहली एसी लोकल ४,२७० एमएम की ऊंचाईवाली होगी। एसी लोकल इंटीग्रल कोच पैâक्ट्री (आईसीएफ)चेन्नई से नवंबर के मध्य तक आ जाएगी। मध्य रेलवे ने दिसंबर तक ट्रांस-हार्बर पर भेल कंपनी द्वारा निर्मित एसी लोकल को चलाने की योजना बनाई है। मार्च २०२० तक सभी छह एसी लोकल ट्रेनें मध्य रेलवे को मिलने की संभावना है।
ट्रांस हार्बर पर २६४ सेवाएं
ठाणे और वाशी के बीच ट्रांस-हार्बर लाइन पर १२ लोकल ट्रेनों की कुल २६४ सेवाएं चलतीं हैं। जब भी मध्य रेलवे इस लाइन पर एक एसी लोकल चलाने का पैâसला करेगी, उसे इन १२ लोकल ट्रेनों की सेवाओं में से एक नॉन-एसी रेक वापस लेना होगा। नॉन-एसी ट्रेन के स्थान और समय पर एसी ट्रेन की सेवाओं को चलाने पर विचार किया जा रहा है।

आम यात्रियों को नुकसान पहुंचाए बिना किस तरह से एसी लोकल चलाई जा सकती है? हम इस पर ध्यान दे रहे हैं। हम यात्री संघों से भी बातचीत करेंगे। जल्द ही हमें पहली लोकल मिलनेवाली है। इसके बाद अगर सब कुछ ठीक रहा तो दिसंबर तक मध्य रेलवे के लोगों को एसी की सुविधाएं मिलने लगेंगी।
शिवाजी सुतार (सीपीआरओ मध्य रेलवे)