" /> सोने की सनक!, चार तोले की चेन के लिए कर दी दोस्त की हत्या

सोने की सनक!, चार तोले की चेन के लिए कर दी दोस्त की हत्या

ठाणे में ४ तोले सोने की चेन पाने की सनक में एक व्यक्ति ने अपने मित्र को ही मार डाला। कासरवडवली पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। उल्लेखनीय है कि घोड़बंदर रोड वाघविल गांव निवासी हेमंत रामचंद्र डाकी द्वारा ७ सितंबर की शाम पुलिस थाने में एक शिकायत दर्ज कराई गई थी। दर्ज शिकायत में हेमंत ने अपने २० वर्षीय बेटे अक्षय की हत्या किए जाने की आशंका जताई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस की दो टीमों का गठन किया गया। जांच-पड़ताल के दौरान पुलिस को सुराग मिला कि लापता अक्षय प्रतिदिन अपने दोस्त ओवला, पानखंडा निवासी धनराज से मिलने के लिए पानखंडा गांव आता-जाता था। इसी परिसर से पुलिस ने उसकी बाइक बरामद कर ली। पुलिस द्वारा धनराज से पूछताछ की गई तो उसने अक्षय के संबंध में किसी तरह की जानकारी होने से इंकार कर दिया। अक्षय ३ सितंबर से गायब था। लिहाजा पुलिस ने धनराज के मोबाइल कॉल की जांच करना शुरू कर दिया। ४ सितंबर को धनराज ने एक ऑटो रिक्शावाले को फोन किया था। ऑटो वाले को बुलाकर पुलिस द्वारा पूछताछ की गई तो इस मामले का भंडाफोड़ हो गया। ऑटोचालक ने बताया कि धनराज ने ४ सितंबर को फोन कर सुबह ५ बजे बुलाया था। वहां जाने के बाद धनराज २०-२० लीटर का दो केन लेकर ऑटो में बैठ गया। थोड़ी दूर जाने के बाद धनराज ने ऑटो रुकवाया और झाड़ी के अंदर से एक वजनी बोरी लाकर ऑटो में रख दिया। उसने मालजी पाढ़ा वसई की तरफ चलने के लिए कहा। मालजी पाढ़ा स्थित पुल से उस बोरी को उसने खाड़ी में फेंक दिया। ऑटोवाले के इस बयान के आधार पर पुलिस ने धनराज से कड़ी पूछताछ की तो उसने हत्या का गुनाह कबूल कर लिया। धनराज ने पुलिस को बताया कि अक्षय ४ तोले की चेन पहनता था। उसको पाने के लिए अपने भाई कृष्णा तथा दोस्त चंदन पासवान के साथ मिलकर रस्सी से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और शव को खाड़ी में फेंक दिया है। धनराज के बयान के आधार पर पुलिस ने दमकल विभाग की मदद से अक्षय का शव बरामद कर लिया है। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से सोने की चेन, मृतक का मोबाइल तथा गला घोटने में उपयोग की गई रस्सी को भी बरामद कर लिया है।