" /> सोशल मीडिया पर साइबर हैकर्स सक्रिय : 491 मामले दर्ज, 260 गिरफ्तार

सोशल मीडिया पर साइबर हैकर्स सक्रिय : 491 मामले दर्ज, 260 गिरफ्तार

साइबर सेल ने जूम ऐप का इस्तेमाल करनेवालों से की सावधान रहने अपील की

महाराष्ट्र साइबर विभाग ने लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर गलत जानकारी और अफवाह फैलानेवालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है। साइबर विभाग ने राज्य में जूम एप का सावधानीपूर्वक उपयोग करने की लोगों से अपील की है। कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा फेक एप बनाकर इसका दुरुपयोग किया जा रहा है। अब तक राज्य में कुल 491 साइबर से संबंधित मामले दर्ज किए गए हैं और 260 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें 195 मामलों में आपत्तिजनक व्हाट्सएप संदेशों को अग्रेषित करने, 201 मामले आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट साझा करने, 26 मामले टिकटॉक वीडियो साझा करने, आपत्तिजनक ट्वीट के 9 मामले, इंस्टाग्राम पर गलत पोस्ट करने के 4 मामले, जबकि अन्य सोशल मीडिया (ऑडियो क्लिप, यूट्यूब) के दुरुपयोग के 56 मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें से 107 आपत्तिजनक पोस्ट हटा दी गई है।
महाराष्ट्र साइबर विभाग ने लोगों से साइबर हैकरों की ऑनलाइन वित्तीय धोखाधड़ी से सावधान रहने की अपील की है। इन दिनों इंटरनेट और विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर साइबर अपराधी लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं। लातूर जिले में देवणी पुलिस स्टेशन में एक और नया मामला दर्ज किया गया है। इस प्रकार लातूर जिले में कुल 11 मामले दर्ज किए गए हैं। इन दिनों बहुत से लोगों का इंटरनेट व सोशल मीडिया पर समय व्यतीत हो रहा है। इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों में फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, लिंक्डिन, टिकटॉक आदि शामिल हैं। साइबर हैकर्स वर्तमान में ऑनलाइन वित्तीय धोखाधड़ी के लिए एक नई रणनीति के तहत काम कर रहे हैं। साइबर हैकर सोशल मीडिया के गतिविधियों की निगरानी कर रहे हैं। खासकर फेसबुक पर वे सक्रिय हैं। आपके किसी परिचित के सोशल मीडिया पर उपलब्ध तस्वीरों और अन्य जानकारियों के आधार पर वे उस परिचित की एक फर्जी प्रोफाइल बनाते हैं और आपको एक फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं। इसके साथ एक मैसेज आता है कि यह नया अकाउंट है क्योंकि मेरा पिछला अकाउंट हैक हो गया था। सभी सामान्य नागरिक इस पर विश्वास करते हैं और फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार कर लेते हैं। फिर इस खाते से आपको कभी-कभी अपने मोबाइल या लैपटॉप पर एक गलत ऐप डाउनलोड करने के लिए कहा जाता है। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपके मोबाइल या लैपटॉप का नियंत्रण इन साइबर हैकर्स के पास चला जाता है और वे आपके सभी डेटा या बैंक खाते से पैसे निकाल सकते हैं। महाराष्ट्र साइबर ने सोशल मीडिया खासकर फेसबुक का उपयोग करते समय सावधानी बरतने का आग्रह किया है। किसी भी अजनबी से फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार न करें। इसके अलावा, अपने सभी फोटो और फोटो एलबम की गोपनीयता सेटिंग को अपडेट करें, ताकि कोई भी आपकी फोटो डाउनलोड न कर सके। इसके अलावा अगर आपके फेसबुक फ्रेंड की कोई प्रोफाइल है, लेकिन दूसरे प्रोफाइल से फ्रेंड रिक्वेस्ट आती है, तो उसे स्वीकार करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि वो व्यक्ति कौन है।