स्वच्छ ब्रश रखे दांतों और शरीर को स्वस्थ

स्वस्थ और सुंदर दांत न सिर्फ हमारे शरीर को स्वस्थ रखते हैं बल्कि इससे हमारी पर्सनालिटी में निखार भी आता है। दांतों को स्वस्थ रखने के लिए दांतों की साफ- सफाई जरूरी होती है इसलिए हममें से लगभग सभी लोग सुबह उठकर शौच क्रिया से निबटने के बाद सबसे पहले अपने दांतों को साफ करते हैं यानी कि ब्रश करते हैं लेकिन यहां भी यह सवाल उठता है कि हम ब्रश कैसे करते हैं? क्योंकि दांतों की सफाई करने के लिए ब्रश का साफ होना भी जरूरी होता है, अन्यथा नुकसान उठाना पड़ सकता है।
दांतों को चमकदार और स्वस्थ बनाए रखने के लिए रोजाना दो बार ब्रश करना जरूरी माना जाता है। दांतों की सफाई में टूथपेस्ट का बहुत कम और टूथब्रश का अहम रोल होता है। फ्लोराइड टूथपेस्ट से ब्रश करना, दांतों की देखभाल का सरल और व्‍यापक रूप से प्रचलित तरीका है। नियमित और ठीक तरीके से दांतों में ब्रश करना प्‍लॉक को कम करने में मदद करता है। प्‍लॉक दांतों और मसूड़ों की बीमारियों का कारण होता है। इसके अलावा फ्लोराइड कैविटी रोकने में भी मदद करता है। दांतों की देखभाल के लिए इस बात का महत्‍व बहुत ज्‍यादा होता है कि आप सही तरीके से नियमित ब्रश करते हैं या नहीं इसलिए ब्रश की देखभाल करना बहुत जरूरी होता है लेकिन इससे पहले यह जांच लेना जरूरी होता है कि क्या हमारा ब्रश साफ है और यह दांतों की सफाई के योग्य है? क्यों इंटरनेट पर इन दिनों यही बहस छिड़ी है कि ब्रश वैâसे साफ रखा जाए? ब्रश को पेस्ट लेने से पहले गीला करें या बाद में?
ब्रश सभी करते हैं लेकिन ब्रश करने का सबका तरीका अलग-अलग होता है। आमतौर पर अधिकांश लोगों की आदत होती है कि वे ब्रश करने से पहले ब्रश को पानी से गीला करते हैं और फिर उस पर टूथपेस्ट लगाते हैं, वहीं कुछ लोग ब्रश पर टूथपेस्ट पहले लगाते हैं और फिर पानी से गीला करते हैं। ऐसे भी लोगों की कमी नहीं है जो कि जो पहले और बाद दोनों समय इसे गीला करना पसंद करते हैं लेकिन यहां सवाल यह उठता है कि आखिर ब्रश करने का सही तरीका कौन सा है? इस बारे में सब अपनी-अपनी राय देते हैं लेकिन वास्तव में सही क्या है, इनमें से कौन-सा तरीका दांतों के लिए सबसे अच्छा है।
जब इस बारे में डेंटिस्ट डॉक्टर्स से पूछा गया तो डॉक्टर्स ने कुछ हट के जवाब दिया। डॉक्टर्स ने कहा, टूथब्रश को गीला नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से आपके टूथपेस्ट का प्रभाव कम हो जाता है।
वहीं कुछ डॉक्टर्स का यह भी मानना है कि अगर आपको ब्रश करने से पहले आपको उसे गीला करना पसंद है तो आप उसे हल्का सा वेट कर सकते हैं क्योंकि ज्यादा पतले टूथपेस्ट से ब्रशिंग की दक्षता कम हो जाती है, जो कि आपके दांतों के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है। गीले टूथब्रश से टूथपेस्ट डाइल्यूट हो जाता है, जिससे उसका प्रभाव कम हो जाता है।
उनका ये भी मानना है कि यदि आपके लिए अपने टूथब्रश को गीला करना जरूरी हैं तो उसे नल के नीचे १ सेकंड से ज्यादा देर न रखें। ब्रश को गीला करने के लिए कम से कम पानी का उपयोग करें। उपयोग के पहले टूथब्रश को धोते हैं तो उसे कुछ देर सुखाने के बाद इस्तेमाल करें और इस्तेमाल करने के बाद, टूथब्रश से टूथपेस्‍ट साफ करने के लिए उसे अच्‍छी तरह से नल के पानी से अंगूठे से रगड़ कर धो लें तथा उसे वापस ऐसी जगह रखें, जहां वह आसानी से सूख जाए। यदि आप टूथब्रश को केवल इसलिए गीला करते हैं ताकि उस पर लगे बैक्टीरिया निकल जाएं तो आप इसके लिए टूथब्रश कवर का इस्तेमाल करें। अच्छा होगा अगर इस कवर को समय समय पर बदलते रहें। इसके अलावा पुराने ब्रश को लंबे समय तक इस्‍तेमाल करने से संक्रमण से बीमारी होने का खतरा रहता है, एक ही जगह पर परिवार के सभी सदस्‍यों के टूथब्रश को रखना भी बीमारी फैलता है। साथ अगर टूथब्रश गीला ही रख दिया जाए तो उसमें काफी अधिक मात्रा में बैैक्‍टीरिया जन्‍म ले सकते हैं। अगर आप इस तरह की समस्‍याओं से बचना चाहते हैं तो टूथब्रश की देखभाल करना बहुत जरूरी होता है।  टूथब्रश को कभी भी शेयर न करें क्‍योंकि एक दूसरे का टूथब्रश इस्‍तेमाल करने से शरीर के तरल पदार्थ का आदान-प्रदान होता है, जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। टूथब्रश अस्‍थायी रूप से खून में बैक्‍टीरिया के स्‍तर को बढ़ा देता है और टूथब्रश साझा करने से इसका स्‍तर बहुत अधिक बढ़ जाता है। विशेषज्ञ यह सलाह देते हैं कि टूथपेस्ट करने के तुरंत बाद मुंह नहीं धोना चाहिए। ऐसा करने से टूथपेस्ट के कण मुंह से निकल जाते हैं और वो दांतों को रिपेयर नहीं कर पाते हैं, परंतु ब्रश करने के २ से ५ मिनट बाद पानी लेकर अच्छे से कुल्ला करना चाहिए ताकि टूथपेस्ट के अवशेष आपके दांतों के अंदर न रह जाएं।