सड़कों पर उड़ रहे हैं पत्थर, दर्जनों हुए घायल

गड्ढों में तब्दील खस्ताहाल भिवंडी की सड़कों पर पहले लोग गिरकर घायल हो रहे थे लेकिन अब आलम यह है कि बारिश के कारण सड़कों पर बचा पत्थर उड़ने से लोग घायल हो रहे हैं। बावजूद मनपा प्रशासन इसे लेकर कोई सार्थक कदम नहीं उठा रही है, जिसे लेकर लोगों में मनपा के प्रति घोर नाराजगी व्याप्त है।
मालूम हो कि कई दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश के कारण भिवंडी की सभी छोटी-बड़ी १२० सड़कें पूरी तरह से गड्ढे में तब्दील हो गई हैं। सडकों पर चार-पांच फीट लंबा-चौड़ा व गहरा गड्ढा बन गया है। इसके अलावा बरसात के कारण सड़कों के डामर पानी में बह जाने के कारण सड़कों पर सिर्फ पत्थर व कंकड़ ही बचे हैं। यह समझ पाना मुश्किल है कि सड़क में गड्ढे हैं या गड्ढे में सड़क है। सड़कों पर गड्ढों के कारण कई दर्जन बाइक सवार रोजाना सड़कों पर गिरकर घायल हो रहे हैं। साथ ही इन गड्ढों के कारण शहर में रोज वाहनों के पलटने की दर्जनों दुर्घटनाएं हो रही हैं लेकिन अब आलम यह है कि सड़कों पर मात्र बचे पत्थर वाहनों से उड़ रहे हैं और इस कारण राहगीर भी घायल हो रहे हैं। स्थानीय कमला होटल के पास नवकार बिल्डिंग में रहनेवाले यार्न व्यापारी राकेश केसरवानी रविवार की रात १०.३० बजे धामनकर नाका से बाइक द्वारा घर जा रहे थे। जैसे ही वे टोरंट कार्यालय के सामने आगरा रोड पर पहुंचे। एक ट्रक के टायर से फिसला हुआ बड़ा पत्थर सीधा उनके पैर पर आकर लगा, जिसके कारण वे घायल हो गए। सिर्फ राकेश ही नहीं और भी राहगीर उड़ रहे पत्थरों से घायल हो चुके हैं। इस तरह अब सड़क का पत्थर लोगों के लिए खतरनाक साबित हो रहा है लेकिन मनपा प्रशासन सड़क को दुरुस्त करने में कोई रुचि नहीं ले रहा है।