" /> सड़क पर गिरा था ₹ 500 का नोट : कोरोना संक्रमित होने की अफवाह फैलानेवाला हुआ गिरफ्तार

सड़क पर गिरा था ₹ 500 का नोट : कोरोना संक्रमित होने की अफवाह फैलानेवाला हुआ गिरफ्तार

कोरोना को लेकर झूठी अफवाह फैलानेवालों के खिलाफ मुंबई न सिर्फ पूरी तरह सतर्कता बरत रही है बल्कि तुरंत कार्यवाई भी कर रही है। सड़क पर ₹500 को अल्पसंख्यक समुदाय का दिखनेवाले आदमी ने संक्रमित कर फेंकने की अफवाह फैलानेवाले एक सिक्योरिटी गार्ड को मालाड पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
खबर के अनुसार मालाड पश्चिम लिंक रोड के एक बिल्डिंग में 25 वर्षीय युवक सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है। बुधवार को उसे बिल्डिंग के बाहर ₹500 का नोट जमीन पर पड़ा दिखा। उस ने बिल्डिंग के लोगों को बताया कि पहनावे से अल्पसंख्यक समुदाय का दिखनेवाले शख्स द्वारा नोट को कोरोना संक्रमित कर सड़क पर फेंकते हुए देखा है। सिक्योरिटी गार्ड की बात को सच मान कर लोगों ने मालाड पुलिस को सुचित किया। मालाड के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक जॉर्ज फर्नांडीस ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए वे खुद वहां गए। सिक्योरिटी गार्ड ने पुलिस को भी वही बोला जो बिल्डिंगवालों को बताया था। आसपास की दुकानों के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच में पुलिस ने पाया कि एक आदमी एटीएम से पैसे निकाल कर बाहर आता है। पैंट की जेब से गाड़ी की चाबी निकालते समय ₹ 500 का नोट जमीन पर गिर जाता है। सच्चाई सामने आने के बाद मालाड पुलिस उक्त सिक्योरिटी गार्ड को गिरफ्तार कर कल बोरिवली कोर्ट में पेश की। कोर्ट ने जेल कस्टडी देने के बाद अफवाहबाज सिक्योरिटी गार्ड को जमानत दे दी।