हर साल हिंदुस्थान में  ३४ हजार महिलाओं से रेप

काइम रिकॉर्ड ब्‍यूरो द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक हिंदुस्थान में साल २०१२ में रेप के २४,९२३ दर्ज हुए, जो २०१३ में बढ़कर ३४,७०७ हो गए थे। दिल्‍ली में साल २०१२ के मुकाबले २०१३ में रेप केस के मामले दोगुने हो गए. यहां, २०१३ में रेप के १,६३६ दर्ज हुए जो २०१२ में ७०६ थे। एनसीआरबी के आंकड़ों से ये भी स्‍पष्‍ट हुआ कि दिल्‍ली में २०१३ में हर दिन औसत रेप के चार मुकाबले दर्ज हुए। २०१३ में दिल्‍ली के अलावा मुंबई में ३९१ केस, जयपुर में १९२ केस और पुणे में १७१ केस दर्ज हुए।
एनएसआरबी के आकंडों के मुताबिक साल २०१३ में सभी राज्‍यों के मुकाबले मध्‍य प्रदेश में सबसे ज्‍यादा रेप केस दर्ज हुए। यहां हर दिन औसत ११ रेप केस दर्ज हुए, वहीं, राजस्‍थान में रेप के ३,२८५, महाराष्‍ट्र में ३,०६३ और उत्तर प्रदेश में ३,०५० केस दर्ज हुए। आंकड़ों से ये भी सामने आया कि २०१२ के रेप केस में ९,०८२ नाबालिग लड़कियां थीं और २०१३ में नाबालिगों की संख्‍या १३,३०४ हो गई. इसके अलावा अधिकांश रेप केस में आरोपी जानने वालों में से ही निकला है। एनसीआरबी के आंकड़े ये भी बताते हैं कि ९४ प्रतिशत केस में आरोपी आरोप लगाने वाले को अच्‍छे से पहचानता है। इनमें ५३९ केस में अपराधी अभिभावक रहे, १०७८२ केस में पड़ोसी, २३१५ केस में रिश्‍तेदार और १८१७१ दूसरे जानने वाले ऐसा करते हैं।