हाय, दइया! राजधानी पर भी छइयां-छइयां, सूरत टू बोरीवली एक सनकी का सफर

भारतीय रेलवे की प्रतिष्ठित ट्रेन राजधानी एक्सप्रेस है। यह ट्रेन दिल्ली से मुंबई अपने सफर के दौरान सूरत से बोरीवली के बीच किसी भी स्टेशन पर नहीं रुकती है। यदि उपरोक्त दो स्टेशनों के बीच कोई शख्स सूरत से बोरीवली का सफर ट्रेन की छत पर तय कर मुंबई पहुंच जाए तो जाहिर से बात है सुननेवालों के मुंह से हाय दइया! निकलना लाजमी है। कल जब दिल्ली से सफर तय कर राजधानी एक्सप्रेस बोरीवली स्टेशन पहुंची तो स्टेशन पर जिसने भी इस घटना को देखा, वह शख्स हाय दइया! राजधानी पर भी छइयां-छइयां कहकर आश्चर्यचकित हो गया।
बता दें कि कल राजधानी एक्सप्रेस अपने तय समय पर जब बोरीवली स्टेशन पहुंची तो ट्रेन की छत पर एक यात्री को घूमता देख हर कोई दंग रह गया। दंग रहता भी क्यों नहीं! ट्रेन जिस बिजली की बदौलत फर्राटा भरती है उसकी तार पर २५ हजार वोल्ट का बिजली प्रवाह हमेशा होता रहता है। मतलब साफ है कि जिसने भी इस तार को छुआ तो वो मिनटों में स्वाहा हो गया। ट्रेन की छत पर चलने की जानकारी जब आरपीएफ, जीआरपी और रेलवे के अन्य कर्मचारियों को मिली तो आनन-फानन में ओवर हेड वायर का बिजली प्रवाह रोक दिया गया और उस शख्स को छत से नीचे उतरने की कवायद शुरू की गई। भारी मशक्कत के बाद जब उस शख्स को ट्रेन से नीचे उतारा गया तो जांच में पता चला कि शख्स सनकी (मानसिक रूप से कमजोर) है। बोरीवली आरपीएफ द्वारा की गई जांच में पता चला कि इस सनकी शख्स ने सूरत से बोरीवली का सफर राजधानी की छत पर तय किया था।