हार ही हार

अंतरराष्ट्रीय टी-२० मैंचों में हिंदुस्थानी महिला क्रिकेट टीम की हार का सिलसिला लगातार जारी है। कल खेले गए महत्वपूर्ण मैच में इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम ने टीम इंडिया को १ रन से हरा दिया। इसके साथ ही इंग्लिश टीम ने ३ मैचों की शृंखला ३-० से जीत ली। यह इसा साल हिंदुस्थानी महिलाओं की ७ वीं हार थी। शर्मनाक बात यह कि इस साल टीम इंडिया ने ७ मैच खेले हैं और शबी मैचों में उसे हार का सामना करना पड़ा है। कल इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर ११९ रन का स्कोर बनाया। जवाब में टीम इंडिया निर्धारित २० ओवरों में ६ विकेट खोकर ११८ रन ही बना सकी। १२० रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। १० रन के अंदर ही हर्लीन देओल (१) के रूप में पहला झटका लग गया। इसके बाद कप्तान स्मृति मंधाना ने ३९ गेंदों पर आठ चौकों और एक छक्के की मदद से ५८ रन की पारी खेली और टीम को जीत के करीब पहुंचाया। मंधाना टीम के ८७ के स्कोर पर तीसरे बल्लेबाज के रूप में आउट हुई। उनके आउट होने के बाद अनुभवी मिताली राज ने एक छोर संभाले रखा। हालांकि, दूसरे छोर पर विकेट के गिरता रहा। इंग्लैंड की तेज गेंदबाज केट क्रॉस ने अंतिम ओवर में की गई शानदार गेंदबाजी कर टीम को जीत दिलाई। टीम इंडिया को अंतिम छह गेंदों पर जीत के लिए केवल ३ रन बनाने थे लेकिन टीम एक ही रन बना पाई और दो विकेट भी गंवा दिए। कल अंतिम ओवर में मिताली को स्ट्राइक न मिल पाना भारत की हार का सबसे बड़ा कारण रहा। मिताली ने ३२ गेंदों पर चार चौकों की मदद से नाबाद ३० रन की पारी खेली। इंग्लैंड की ओर से क्रॉस ने बेहतरीन दो विकेट लिए और उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला। उनके अलावा अन्या श्रबसूले, लिंसे स्मिथ और लौरा मार्श ने एक-एक विकेट लिए, जिसकी बदौलत इंग्लैंड से ३-० से क्लीन स्वीप करने में सफल हुई।