पाक से निपटने के लिए समुद्र में हिंदुस्थान तैयार, पनडुब्बियां और एयरक्रॉफ्ट तैनात

पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के साथ तनाव भले ही पिछले कुछ दिनों के मुकाबले कम हुआ है लेकिन अरब सागर में नौसेना अब भी पूरी तरह मुस्तैद है। हिंदुस्थान के युद्धक जहाज, पनडुब्बियां और एयरक्रॉफ्ट अब भी उत्तरी अरब सागर में तैनात हैं और पूरी रह सतर्क हैं। पाकिस्तान की ओर से किसी भी हिमाकत का जवाब देने के मकसद से यह तैनाती बरकरार रखी गई है।

नेवी के प्रवक्ता  कैप्टन डीके शर्मा ने कल बताया कि हिंदुस्थानी नौसेना की समुद्र, हवा और जमीन पर मजबूती के चलते पाकिस्तानी नेवी को मकरान तट तक ही सीमित रहना पड़ रहा है और वह महासागर में खुले तौर पर नहीं आ पा रहे। पुलवामा आतंकी हमले के बाद से यह स्थिति है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में जिस वक्त ४० सीआरपीएफ जवान शहीद हुए थे, उस दौरान नेवी अपने सबसे बड़े वॉर गेम में व्यस्त थी। ट्रॉपेक्स-२०१९ नाम से चल रहे नेवी के इस अभ्यास में ६० वॉरशिप, १२ कोस्ट गार्ड शिप्स और ६० एयरक्रॉफ्ट लगे थे। हमले के बाद वायुसेना को सरकार ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर एयर स्ट्राइक की मंजूरी दी थी। दूसरी तरफ नेवी को भी अलर्ट मोट पर रखा गया था और उत्तरी अरब सागर में उसकी तैनाती में इजाफा किया गया था।

कैप्टन शर्मा ने बताया कि पुलवामा अटैक के दौरान नेवी का ऑपरेशन चल रहा था, इसलिए नेवी ने बेहद तेजी से काम करते हुए अरब सागर में अपनी सतर्कता बढ़ा दी और युद्धक जहाजों एवं एयरक्रॉफ्ट्स की तैनाती बढ़ा दी।