हिंदुस्थान में चलाया ‘कसाब’ छाप फोन, पुलिस ने दबोचा

हिंदुस्थान में प्रतिबंधित कसाब छाप सैटेलाइट फोन का इस्तेमाल करनेवाले दो लोगों को येलो गेट पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी कबाड़ के व्यवसायी हैं, जो दुबई से कबाड़ खरीदकर पानी के जहाज से मुंबई लाते हैं। इसी दौरान एक-दूसरे से उन्होंने २६/११ आतंकी हमले को अंजाम देनेवाले आमिर अजमल कसाब और उसके सहयोगियों द्वारा इस्तेमाल किए गए मॉडलवाले सैटेलाइट फोनों का इस्तेमाल किया था।
मुंबई के करीब स्थित हिंदुस्थानी समुद्री सीमा में प्रतिबंधित सैटेलाइट फोनों का इस्तेमाल किए जाने की जानकारी पिछले दिनों हिंदुस्थानी सैटेलाइट सिस्टम में दर्ज हुई थी। इससे सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप मच गया था क्योंकि ये उसी मॉडल का सैटेलाइट फोन था जिसका इस्तेमाल २६/११ आतंकी हमले के लिए समुद्र मार्ग से मुंबई में प्रवेश करने के दौरान आतंकी आमिर अजमल कसाब और उसके साथियों ने किया था। तट रक्षक बल से इस बारे में जानकारी मिलने के बाद पुलिस उपायुक्त डॉ. रश्मि करंदीकर के मार्गदर्शन तथा वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुरेखा कपिले के मार्गदर्शन में पीआई संजय करंबे की टीम ने जहाज के कैप्टन आशीष प्रजापति व कबाड़ व्यवसायी विशाल सिंह को गिरफ्तार किया था। संजय करंबे ने बताया कि आशीष १३ जून को दुबई से कबाड़ भरा जहाज लेकर मुंबई के लिए रवाना हुआ था। वहां आशीष ने थुरर्य मॉडल का सैटेलाइट फोन खरीदा था। जो हिंदुस्थान में बैन है। हिंदुस्थानी जल क्षेत्र में दाखिल होने के बाद आशीष ने उक्त प्रतिबंधित फोन से विशाल को फोन किया। उक्त फोन के अजीबोगरीब नंबर के बारे में पूछने पर आशीष ने विशाल को सैटेलाइट फोन के बारे में बताया तो विशाल ने उक्त फोन हिंदुस्थान में प्रतिबंधित होने की बात बताते हुए फोन को नष्ट करके समुद्र में फेंकने का निर्देश आशीष को दिया था। आशीष ने फोन तो नष्ट कर दिया लेकिन उससे पहले सैटेलाइट ने उसकी गलती को पकड़ लिया था। फिलहाल कोर्ट ने दोनों को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया है।