" /> हिंदुस्थान में रोज होते हैं ८७ रेप केस, एक साल में ७ % बढ़ा महिलाओं के खिलाफ अपराध :NCRB

हिंदुस्थान में रोज होते हैं ८७ रेप केस, एक साल में ७ % बढ़ा महिलाओं के खिलाफ अपराध :NCRB

हिंदुस्थान में वर्ष २०१९ में रोज औसतन ८७ महिलाओं से रेप के मामले सामने आए हैं। सालभर के दौरान महिलाओं के खिलाफ अपराध के कुल ४,०५,८६१ मामले दर्ज हुए। सरकार की ओर से जारी ताजा आंकड़ों में यह जानकारी सामने आई। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़ों के मुताबिक यह २०१८ की तुलना में सात फीसदी ज्यादा है।
`हिंदुस्थान में अपराध -२०१९’ रिपोर्ट बताती है कि महिलाओं के खिलाफ अपराध पिछले साल के मुकाबले ७.३ प्रतिशत बढ़ गए हैं। वर्ष २०१९ में प्रति एक लाख महिला आबादी पर ६२.४ फीसदी केस रजिस्टर्ड हुए हैं, जो साल २०१८ में ५८.८ फीसदी था। देशभर में साल २०१८ में महिलाओं के खिलाफ अपराध के कुल ३,७८, २३६ मामले दर्ज किए गए थे। एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक, साल २०१८ में देश में रेप के कुल ३३,३५६ मामले दर्ज हुए हैं। २०१७ में यह संख्या ३२,५५९ थी। एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक, `भारतीय दंड संहिता के तहत दर्ज इन मामलों में से अधिकांश `पति या उसके रिश्तेदारों द्वारा क्रूरता’ (३०.९ प्रतिशत) के मामले हैं, इसके बाद उनकी `शीलता का अपमान करने के इरादे से महिलाओं पर हमले’ (२१.८ प्रतिशत), `महिलाओं के अपहरण’ (१७.९ प्रतिशत) के मामले दर्ज हैं। एनसीआरबी के आंकड़ों से पता चलता है कि केवल महिलाएं ही नहीं, बच्चों के खिलाफ भी अपराध से जुड़े मामलों में बढ़ोतरी हुई है। २०१८ से, २०१९ में बच्चों के खिलाफ अपराध के मामलों में ४.५ प्रतिशत की वृद्धि हुई है। साल २०१९ में बच्चों के खिलाफ अपराध के कुल १.४८ लाख केस दर्ज हुए हैं, इनमें से ४६.६ फीसदी अपहरण और ३५.३ फीसदी उनके यौन दुष्कर्म से जुड़े हैं।