हिटमैन पर भरोसा

टेस्ट मैचों के लिए लगातार हिटमैन रोहित शर्मा को टीम में रखने की चर्चाएं होती रही हैं। वेस्टइंडीज दौरे पर जब के.एल. राहुल को उनकी जगह खिलाया गया तो रोहित के प्रशंसकों में गुस्सा था किंतु उस दौरे पर बेहद ही खराब प्रदर्शन करनेवाले के.एल. राहुल के लिए बुरी खबर सामने आ रही है और ये रोहित के प्रशंसकों के लिए अच्छी खबर मानी जाएगी। दरअसल टीम इंडिया के चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने साउथ अप्रâीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा को बतौर ओपनर उतारने के संकेत दिए हैं। एमएसके प्रसाद ने २ अक्टूबर से साउथ अप्रâीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले कहा है कि वो रोहित शर्मा के नाम पर बतौर ओपनर विचार करेंगे। एमएसके प्रसाद के हवाले से खबर है कि ‘सेलेक्शन कमेटी ने वेस्टइंडीज दौरा खत्म होने के बाद कोई बैठक नहीं की है और रोहित शर्मा के नाम पर बतौर टेस्ट ओपनर विचार किया जाएगा। उधर, केएल राहुल की लगातर विफलता के बाद रोहित शर्मा को बतौर टेस्ट ओपनर उतारने की वकालत की जा रही थी। पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी रोहित शर्मा को ओपनिंग पर उतारने की बात कही थी। वेस्टइंडीज दौरे की टेस्ट टीम में रोहित शर्मा थे लेकिन उन्हें दोनों टेस्ट में मौका नहीं मिला था। एमएसके प्रसाद ने केएल राहुल की खराब फॉर्म पर भी चिंता जताई है। एमएसके प्रसाद के मुताबिक राहुल काफी टैलेंटेड हैं लेकिन उन्हें क्रीज पर और समय बिताने की जरूरत है। एमएसके प्रसाद ने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि राहुल के अंदर टैलेंट है, टेस्ट क्रिकेट में उनकी फॉर्म खराब चल रही है, हम भी उनकी फॉर्म को लेकर चिंतित हैं।’ केएल राहुल साल २०१८ से ही टेस्ट मैचों में खराब प्रदर्शन कर रहे हैं। २०१८ में उन्होंने १२ टेस्ट में २२.२८ के औसत से रन बनाए, वहीं इस साल भी वो २२.०० की औसत से ११० रन ही बना सके हैं। केएल राहुल ने पिछली २७ टेस्ट पारियों में ५७८ रन ही बनाए हैं और उनका औसत सिर्फ २२.२३ रहा है। उन्होंने एक शतक और एक अर्धशतक ही लगाया है। वहीं रोहित शर्मा की अगर बात करें तो वो पिछली १८ टेस्ट पारियों में ५३ के औसत से ६८९ रन बना चुके हैं, जिसमें एक शतक और ६ अर्धशतक शामिल हैं।