" /> होटल सूना-सूना!, मांसाहारी भोजन से डर रहे हैं नागरिक

होटल सूना-सूना!, मांसाहारी भोजन से डर रहे हैं नागरिक

कोरोना का डर इस कदर लोगों में समाया है कि नागरिक होटलों तथा ढाबा में भी जाने से कतरा रहे हैं। अधिक भीड़-भाड़वाली जगहों पर जाने से बचने की सावधानी को लेकर नागरिक कोरोना से बचने के लिए पूरा एहतियात बरतते नजर आ रहे हैं। शहर के कई होटलों में पहले की भांति नागरिकों की भीड़ नजर नहीं आने से होटल व्यवसाई भी चिंतित हैं। शहर में मनपा प्रशासन ने भीड़-भाड़वाले जगहों पर बंदी की घोषणा करने से नागरिक अपने घरों में ही अपने आप को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। ३१ मार्च तक स्कूल तथा महाविद्यालय बंद किए गए हैं। सार्वजनिक कार्य्रकम पर भी बंदी लगा दी गई है। मांसाहारी भोजन के शौकीन नागरिक कोरोना के भय से मांसाहारी भोजन से भी बचते नजर आ रहे हैं। जबकि अधिक तापमान की आंच पर ज्यादा समय तक मांसाहारी भोजन को पकाया जाता है। स्कूल बंद होने से उद्यानों में बच्चों की भीड़ को ध्यान में रखते हुए मनपा ने उद्यानों को बंद कर दिया है। नई मुंबई मनपा आयुक्त अण्णा साहेब मिशाल ने बताया कि कोरोना के संसर्ग को रोकने के लिए पूरी तरह से प्रयास जारी हैं, अत: मनपा के आदेश का पालन करना सभी के हित में है। मनपा के नियमों का पालन नहीं करनेवालों पर कार्रवाई करने की चेतावनी भी उन्होंने दी है। गौरतलब हो कि सायन-पनवेल महामार्ग भी खाली-खाली दिखाई दे रहा है। कोकण तथा मराठवाड़ा जानेवाली एसटी बसें एवं निजी बसों में यात्री अत्यंत कम नजर आ रहे हैं। शहर में कई जगहों के प्राइवेट क्लास, क्रिकेट कोचिंग, फुटबाल क्लब भी बंद कर दिए गए हैं।