" /> होलिका में जलेगा कोरोना का संकट – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

होलिका में जलेगा कोरोना का संकट – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल विधान सभा में कहा कि कोरोना वायरस से लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। इस संबंध में सभी संबंधित अधिकारियों के साथ रोजाना बैठक कर रहा हूं। सरकार कोरोना वायरस को लेकर हर संभव कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि हर वर्ष होलिका में अमंगल जलता है, इस बार होलिका में कोरोना का संकट जलेगा। कोरोना से बढ़ते खतरे को देखते हुए औचित्य के मुद्दे के तहत कई सदस्यों ने विधानसभा में सवाल उपस्थित किया था। सदस्यों के सवालों का जवाब देते हुई मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि मुंबई के साथ-साथ अब नागपुर और पुणे में भी थर्मल स्क्रीनिंग शुरू कर दी गई है। राज्य में विदेश से सीधे आनेवाले हर व्यक्ति की जांच की जा रही है। पांच सितारा होटलों को निर्देश दिए गए हैं कि वे इस बात की छानबीन करें कि उनके यहां रुके विदेशी मेहमानों की जांच हुई है या नहीं।
विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि कई विधायकों ने उन्हें फोन किया और मांग की है कि ज्यादा भीड़-भाड़ के चलते कोरोना के खतरे को देखते हुए मौजूदा बजट सत्र स्थगित कर दिया जाए और इसे १५ दिन बाद फिर शुरू किया जाए। उन्होंने कहा कि कई विधायकों ने कहा कि एयरकंडिशनर के चलते यह ज्यादा पैâलता है। पटोले ने सरकार को निर्देश दिए कि लोगों में कोरोना का डर दूर करने के लिए जनजागृति मुहिम चलाई जाए। सदस्यों के सवालों का जवाब देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि पहले पुणे में ही बीमारी की जांच की सुविधा थी लेकिन अब पुणे के साथ-साथ नागपुर और मुंबई में भी इस बीमारी की जांच की सुविधा है। उन्होंने कहा कि बिना डरे कोरोना का मुकाबला करना है। डर के चलते कई बार गलत कदम उठा लिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों को अपने यहां अलग वॉर्ड बनाने के लिए तैयार करने को कहा गया है। उद्धव ने कहा कि पहली नजर में यह सामने आया कि ठंड में कोरोना के विषाणु ज्यादा जिंदा रहते हैं।
होली में भीड़ से बचें
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि जब स्वाइन फ्लू आया था, तब मैंने अपनी पार्टी से सभी मंडलों को दही हंडी उत्सव न करने को कहा था, जिसे सभी ने माना था। माना जाता है कि होलिका दहन में अमंगल जल जाता है। मुझे उम्मीद है कि इस बार होलिका दहन में कोरोना वायरस जल जाएगा। जनता से मैं सिर्फ यही कहूंगा कि अगले ८-१० दिन सावधानी बरतने की जरूरत है। होली के मौके पर लोगों को ज्यादा भीड़भाड़ करने से बचना चाहिए।
शुरू हुई हेल्पलाइन
राज्य के स्वास्थ्य संचालक प्रदीप व्यास ने बताया कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है। इसके ९८ फीसदी मरीज ठीक हो जाते हैं। ५० साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए ही यह बीमारी ज्यादा घातक साबित हो रही है। कोरोना के कुल मरीजों में से दो फीसदी ही ऐसे हैं, जिनकी जान गई है। व्यास ने बताया कि पुणे में हेल्पलाइन शुरू की गई है। २६१२७३९४ नंबर पर फोन कर कोई भी सलाह या सुझाव ले सकता है। इसके अलावा मुंबई में १९१६ और १०४ टोल प्रâी नंबरों पर संपर्क किया जा सकता है।
चीनी रंग व पिचकारी पर लगाओ बैन विस में सदस्यों की मांग
शिवसेना विधायक रवींद्र वायकर ने विधानसभा पॉइंट ऑफ इंफॉर्मेशन के तहत कोरोना वायरस की चर्चा में भाग लेते हुए चीनी पिचकारी और रंग पर बैन लगाने की मांग की। कई सदस्यों ने कहा कि एन ९५ मास्क ५० रुपए की जगह ३००-४०० रुपए में बिक रहे हैं। होली में बड़े पैमाने पर चीन से रंग लाए जाते हैं। कोरोना के खतरे को देखते हुए सरकार को चीनी रंगों पर पाबंदी लगानी चाहिए। विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि नागपुर में थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा नहीं है। वहां भी विदेश से खासकर खाड़ी देशों से लोग आते हैं। इसके अलावा एन ९५ मास्क की कालाबाजारी हो रही है।