३०४ पेड़ चढ़ सकते हैं मेट्रो-२ए की बलि!

आरे में मेट्रो-३ के कारशेड के लिए पेड़ों का कत्ल करने के बाद अब मेट्रो प्रशासन मेट्रो-२ए के लिए ३०४ पेड़ों की बलि चढ़ाना चाहता है। इस बात से अब पर्यावरणप्रेमी काफी खफा हैं। कल २०० पर्यावरणप्रेमियों ने मनपा ट्री अथॉरिटी के समक्ष अपना ऑब्जेक्शन दर्ज कराया है।
बता दें कि मेट्रो-२ए का काम लगभग ९० प्रतिशत तक पूरा हो चुका है। ऐसे में अब मेट्रो प्रशासन ने मनपा ट्री अथॉरिटी से ३०४ पेड़ काटने की अनुमति मांगी है। इसमें ओशिवरा, कांदिवली और दहिसर में पेड़ों की कटाई की अनुमति मांगी गई है। पर्यावरणप्रेमी और लेट इंडिया ब्रेथ एनजीओ के सदस्य यश मारवाह ने कहा कि प्रशासन ने इससे पहले भी मेट्रो-२ए के मार्ग में आनेवाले पेड़ों को काटा है और अब लगभग सब काम होने और यहां तक की लाइन रेडी होने के बाद भी अब इनको क्यों पेड़ काटना है? यह समझ के परे है। हमें शुक्रवार को सुबह मनपा ट्री अथॉरिटी से इस बात की सूचना मिली। ऑब्जेक्शन उठाने के लिए दोपहर ढाई बजे तक का समय दिया गया था। कुल २०० लोगों ने मेल के माध्यम से अपना विरोध जताया है।
पर्यावरणप्रेमी जोरू भाथेना ने कहा कि पहली बात तो मेट्रो प्रशासन ने यह स्पष्ट नहीं किया है कि उन्हें किसलिए यह पेड़ काटने हैं? अब तक मेट्रो के चलते लगभग १० हजार पेड़ों की बलि चढ़ चुकी है। ऐसा ही रहा तो आनेवाले दिनों में मुंबई से पेड़ ही नदारद हो जाएंगे।